Homeलाखों की नौकरी से भी नहीं हुईं संतुष्ट नौकरी छोड़कर UPSC की...

लाखों की नौकरी से भी नहीं हुईं संतुष्ट नौकरी छोड़कर UPSC की तैयारी की, फेल होने पर भी नहीं मानी हार और बन गयीं टॉपर

Array

Published on

आप सबकुछ हासिल कर सकते हैं। आपको कड़ी मेहनत की ज़रूरत होती है। सही दिशा, लगन और चाह से व्यक्ति कहां नहीं पहुंच सकता इसी को चरितार्थ करती हैं नेहा। अधिकतर लोगों का सपना अपनी जिंदगी में सफल होकर बेहतर करियर बनाना होता है। शुरू से ही वे इसके लिए कड़ी मेहनत करते हैं। लेकिन कुछ लोग किसी एक फील्ड में सफल होने के बावजूद कुछ नया करने का सोचते हैं।

कड़ी मेहनत और एकाग्रता के दम पर नेहा ने UPSC में दमदार प्रदर्शन किया है। यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा 2019 में ऑल इंडिया रैंक 15 प्राप्त कर आईएएस अफसर बनने वाली नेहा भोसले कई लोगों के लिए प्रेरणा बन गयी हैं। उन्होंने मुंबई यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग और आईआईएम लखनऊ से एमबीए की डिग्री हासिल करने के बाद यूपीएससी में जाने का फैसला किया।

लाखों की नौकरी से भी नहीं हुईं संतुष्ट नौकरी छोड़कर UPSC की तैयारी की, फेल होने पर भी नहीं मानी हार और बन गयीं टॉपर

उन्हें खुद पर यकीन था। यूपीएससी का सपना पूरा करने के लिए लाखों रुपये के पैकेज वाली नौकरी तक छोड़ दी। हासिल सबकुछ हो सकता है। बस एकाग्रता आपको चाहिए होती है। महाराष्ट्र के मुंबई की रहने वाली नेहा पढ़ाई में हमेशा से काफी होशियार रहीं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने मुंबई यूनिवर्सिटी से बीई की डिग्री हासिल करने के बाद आईआईएम का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर लिया।

लाखों की नौकरी से भी नहीं हुईं संतुष्ट नौकरी छोड़कर UPSC की तैयारी की, फेल होने पर भी नहीं मानी हार और बन गयीं टॉपर

जब कुछ कर दिखाने का जुनून होता है तो आप बस उसी के बारे में सोचते हैं। नेहा ने आईआईएम लखनऊ से एमबीए की डिग्री हासिल की है। एमबीए के बाद उनका एक अच्छी कंपनी में प्लेसमेंट भी हो गया। करीब 3 साल तक उन्होंने यहां नौकरी की। इसी दौरान उन्होंने यूपीएससी में जाने का प्लान बनाया। साल 2016 तक उन्होंने नौकरी के साथ यूपीएससी की तैयारी की। लेकिन उनकी तैयारी अच्छी तरह से नहीं हो पा रही थी, ऐसे में साल 2017 में उन्होंने नौकरी छोड़ दी।

लाखों की नौकरी से भी नहीं हुईं संतुष्ट नौकरी छोड़कर UPSC की तैयारी की, फेल होने पर भी नहीं मानी हार और बन गयीं टॉपर

नौकरी छोड़ने के बाद उन्होंने तत्परता से यूपीएससी की तैयारी की। पहले प्रयास में उन्हें सफलता नहीं मिली। साल 2019 में उन्होंने दूसरे प्रयास में परीक्षा पास कर ली। उन्होंने अपनी तैयारी के दौरान खुद का एनालिसिस कर अपनी कमजोरियों को मजबूती में बदला।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...