HomeFaridabadनिजी स्कूल की मनमानी, स्कूल बंद होने क बावजूद भी मांग रहे...

निजी स्कूल की मनमानी, स्कूल बंद होने क बावजूद भी मांग रहे है फ़ीस, अभिभावकों ने किया प्रदर्शन

Published on

महामारी के चलते स्कूल बंद होने के बाबजूद एक निजी स्कूल द्वारा अभिभावकों से बढ़ाई गई ट्यूशन फीस, एनुअल चार्ज, एडमिशन फीस,डवलपमेंट फंड आदि मांगने से गुस्साए अभिभावकों ने बुधवार को स्कूल गेट के सामने विरोध प्रदर्शन कर किया और स्कूल मैनेजमेंट से सिर्फ बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस लेने की मांग की।

अभिभावक विजय सिंह, दिनेश वशिष्ठ, संजय यादव,प्रवीण,स्वरूप, गौरव शर्मा, शिव, ललित, स्वराज,नागर, राजेश कुमार का कहना है कि एक तरह जहां कोरोना महामारी के चलते काम धंधे बंद होने के कारण अभिभावकों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई है ऐसे में यह स्कूल फीस के मामले में मनमानी कर रहा है।

निजी स्कूल की मनमानी, स्कूल बंद होने क बावजूद भी मांग रहे है फ़ीस, अभिभावकों ने किया प्रदर्शन

स्कूल प्रबंधक अभिभावकों को नोटिस भेजकर व अपने अध्यापकों से मैसेज करा कर बढ़ाई गई ट्यूशन फीस,एनुअल चार्ज, एडमिशन फीस व अन्य फंडों में फीस जमा कराने का दबाव डाल रहा है।फीस जमा न कराने पर बच्चों की ऑनलाइन क्लास बंद करने व स्कूल से नाम काटने की धमकी दे रहा है।

अभिभावकों का कहना है कि घरों में कैई सदस्य कोरोना संक्रमित होने के कारण बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई भी ठीक प्रकार से नहीं चल रही है। केंद्र और राज्य सरकार 10वीं व 12वीं की परीक्षा रद्द कर स्टूडेंट्स को कोविड से बचाने का प्रयास कर रही है वहीं ऐसे समय में स्कूल एस्ट्रा चार्ज के नाम पर अभिभावकों और स्टूडेंट्स के साथ नाइंसाफी कर रहा है।

निजी स्कूल की मनमानी, स्कूल बंद होने क बावजूद भी मांग रहे है फ़ीस, अभिभावकों ने किया प्रदर्शन

अभिभावक दिनेश वशिष्ठ ने कहा है कि स्कूल बंद हैं, स्कूल के खर्चे भी कम हैं उसके बावजूद स्कूल एनुअल चार्ज, डेवलपमेंट फंड्स आदि अन्य फंडों में नाजायज फीस मांग रहा है कोरोना की इस दूसरी लहर में भी अभिभावकों के काम धंधे बंद होने के कारण घर के खर्चे भी ठीक से नहीं चल रहे हैं उसके बावजूद पेरेंट्स बिना बढ़ाएगी ट्यूशन फीस मासिक आधार पर देने को तैयार हैं लेकिन स्कूल इसको लेने को तैयार नहीं है वह इसके साथ साथ अन्य फंडों में भी फीस मांग रहा है। जो पूरी तरह से गैरकानूनी है और न्याय संगत नहीं है।

स्कूल की मनमानी फीस को लेकर अभिभावक आज प्रिंसिपल से मिलने के लिए आए थे लेकिन उन्होंने मिलने से इंकार कर दिया जिसके कारण मजबूरन अभिभावकों को स्कूल के गेट पर विरोध प्रदर्शन करना पड़ा।

निजी स्कूल की मनमानी, स्कूल बंद होने क बावजूद भी मांग रहे है फ़ीस, अभिभावकों ने किया प्रदर्शन

बाद में अभिभावक गेट पर अपना ज्ञापन व मांग पत्र गेटमैन को देकर स्कूल के नजदीक रहने वाले पूर्व विधायक व अभिभावक एकता मंच के संस्थापक टेकचंद शर्मा से मिले और उनसे मदद की गुहार लगाई।

अभिभावकों ने मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा से भी संपर्क किया। कैलाश शर्मा ने अभिभावकों से कहा है कि वे एकजुट और जागरूक होकर स्कूल की प्रत्येक मनमानी का पुरजोर तरीके से विरोध करें और बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस ही मासिक आधार पर जमा कराएं। पेरेंट्स शुक्रवार को एक बड़ी बैठक आयोजित करके आगे की रणनीति बनाएंगे।

Latest articles

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

More like this

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...