Homeइस युवती के जज्बे को सलाम : नौकरी जाने पर खोल लिया...

इस युवती के जज्बे को सलाम : नौकरी जाने पर खोल लिया ढाबा, मात्र 30 रुपए में सभी को करवाती हैं भोजन

Published on

महामारी ने तबाही मचाने के साथ – साथ लोगों का जीना भी बेहाल किया है। महामारी की दूसरी लहर ने देश के स्वास्थ्य ढांचे के साथ अर्थव्यवस्था पर भी नकारात्मक प्रभाव डाला है। कारोबार में नुकसान के डर ने कई नियोक्ताओं को कर्मचारियों की छंटनी समेत कठोर कदम उठाने पर मजबूर कर दिया है। हालांकि, हटाए गए कर्मचारी ढाबा और फूड व्यवसाय समेत अपना कारोबार शुरू करने की प्रतिज्ञा के साथ वापस आ रहे हैं।

महामारी के कारण लगा लॉकडाउन किसी के लिए कालाबाजरी का जरिया बना तो किसी के लिए अभिशाप। महामारी के कारण, उत्तर प्रदेश के कानपुर की एक महिला को उसकी नौकरी से हटा दिया गया लेकिन मिसाल के तौर पर उसने खुद का ढाबा व्यवसाय चलाने का फैसला किया जहां किफायती थाली मात्र 30 रुपये में मिलती है।

इस युवती के जज्बे को सलाम : नौकरी जाने पर खोल लिया ढाबा, मात्र 30 रुपए में सभी को करवाती हैं भोजन

उनका ढाबा काफी वायरल हो रहा है। दूर – दूर से लोग इनका भोजन चखने के लिए आ रहे हैं। कानपुर की इंदु नाम की महिला ने अपने हैंडल से पोस्ट शेयर किया। उसने अपने ट्ववीट में लिखा, “नौकरी जाने के कारण मैंने एक नया व्यापार ‘इंदु का ढाबा’ शुरू किया है और यहां एक थाली की कीमत मात्र 30 रुपए है. मुझे शुभकामना दीजिए।

इस युवती के जज्बे को सलाम : नौकरी जाने पर खोल लिया ढाबा, मात्र 30 रुपए में सभी को करवाती हैं भोजन

आपका हौसला बुलंद होना चाहिए मुकाम तो मिल ही जाता है। इंसान को कभी हार नहीं माननी चाहिए। इसी बात को चरितार्थ करती है इनकी कहानी। ट्वीट सोशल मीडिया पर सामने आने के साथ वायरल हो गया। लोग पोस्ट को बड़े पैमाने पर लाइक्स, रिट्ववीट्स और शेयर कर रहे हैं। ट्विटर यूजर्स ने अपना समर्थन शेयर किया और इंदु के नए व्यवसाय पर शुभकामना दी और किफायती दर पर फूड बेचने की उसकी पहल को सराहा।

इंदु को खुद पर भरोसा था। यदि आप किसी क्षेत्र में सफलता चाहते हैं तो इसे अपना लक्ष्य ना बनाइये, सिर्फ वो करिए जो करना आपको अच्छा लगता है जब हम ऐसा करते हैं तो सबकुछ हासिल हो जाता है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...