HomeUncategorizedमहामारी में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी दे...

महामारी में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी दे ध्यान: मनोविशेषज्ञ अजय

Published on

राजकीय महिला महाविद्यालय सेक्टर 16 ए फरीदाबाद द्वारा उच्चतर शिक्षा निदेशालय हरियाणा एवं शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार ं महात्मा गांधी नैशनल कांउसिल आफ रूरल एजुकेशन के संयुक्त तत्वाधान में करोना महामारी एवं मानसिक सहयोग विषय पर एक आनलाइन कार्यशाला का आयेाजन किया गया ।

जिसमें मनोविशेषज्ञ एवं कांउसलर अजय ने कहा कि करोना महामारी के चलते लोगों को स्वास्थ्य संबंधि परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । वहीं कुछ लोग अपनों को खोने के बाद मानसिक तनाव एवं डर के साय में जी रहे हैं ।

महामारी में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी दे ध्यान: मनोविशेषज्ञ अजय

ऐसे में हमार फर्ज है कि हम उन्हें मानसिक सहयोग प्रदान कर इस परेशानी से बाहर निकलने में उनका सहयोग करें । उन्होंने कार्यशाला में सम्मलित छात्राओं को मानसिक तनाव को दूर करने के उपाय बताए तथा उन्हें अपने आस के ऐसे लोगों का सहयोग करने के लिए प्रेरित किया जो इस प्रकार कि समस्या से जूझ रहे हों ।

महामारी में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी दे ध्यान: मनोविशेषज्ञ अजय

कार्यशाला के शुभारंभ अवसर पर प्राचार्या श्रीमती नम्रता शर्मा ने कहा कि जीवन में विपरीत परिस्थितियों का सामना करने के लिए इंसान का मानसिक रूप से स्वस्थ होना जरूरी है । जब हम मानसिक रूप से मजबूत होते है तो बड़ी से बड़ी परेशानी का सामना आसानी से कर सकते हैं ।

महामारी में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी दे ध्यान: मनोविशेषज्ञ अजय

उन्होंन कहा कि आज के दौर में हमें उन लोगों का मानसिक सहयोग करना चाहिए जो किसी कारण से मानसिक तनाव का शिकार हुए हैं ।

महामारी में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य पर भी दे ध्यान: मनोविशेषज्ञ अजय

महाविद्यालय मनोविज्ञान विभाग की अध्यक्षा एवं कार्यशाला आयोजन समिति की सदस्य श्रीमती रीतिका गुप्ता ने कहा कि कई बार इंसान अपने या दूसरों के दुख से व्यथित होकर मानसिक तनाव से ग्रस्त हो जाता है । ऐसी परिस्थितियों से बाहर आने के लिए उसे अपने के मानसिक सहयोग की जरूरत होती है।

इस अवसर पर राष्ट्रिय सेवा योजना इकाई इंचार्ज डा. रचना सैनी मुख्य वक्ता का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि उच्चतर शिक्षानिदेशालय एवं शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार एनएसएस इकाई द्वारा मानसिक सहयोग अभियान चलाया जाएगा।जिसमें एनएसएस छात्राओं द्वारा लोगों को मानसिक तनाव से मुक्त होने के टिप्स दिए जाऐंगे । इस कार्यशाला के सफल आयोजन में डा. रमन कुमार सहित अन्य स्टाॅफ सदस्यों का सहयोग मिला ।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...