HomeFaridabadभ्रष्टाचार का गढ़ बन रहा है फरीदाबाद नगर निगम, जांच के नाम...

भ्रष्टाचार का गढ़ बन रहा है फरीदाबाद नगर निगम, जांच के नाम पर मौन है प्रशासन

Published on

नगर निगम फरीदाबाद इन दिनों भ्रष्टाचार का गढ़ बना हुआ है। 2018 से लगातार भ्रष्टाचार के नए नए मामले निगम से सामने आते हैं जिसमें निगम के कनिष्ठ अधिकारियों से लेकर वरिष्ठ अधिकारी तक शामिल रहते हैं। इन भ्रष्टाचार के मामलों में जांच फाइलों में ही दबकर रह जाती है।

1. 2018 में निगमायुक्त मोहम्मद शाइन ने प्लानिंग ब्रांच की कुछ फाइलों के गायब होने को लेकर एफआईआर दर्ज कराई थी। इसका भी आजतक कोई पता नहीं।

2. 2. जनवरी 2019 में निगम के ओल्ड फरीदाबाद कार्यालय में डीजल घोटाला सामने आया। पता चला कि कर्मचारी निगम के जनरेटर का डीजल चुराकर खुले बाजार में बेच देते थे। इसमें भी जांच पूरी नहीं हो सकी।

भ्रष्टाचार का गढ़ बन रहा है फरीदाबाद नगर निगम, जांच के नाम पर मौन है प्रशासन

3. 3. जनवरी 2020, महंगाई भत्ता शाखा में कार्यरत एक कर्मचारी द्वारा वकीलों की फीस अपने ही बैंक खाते में ट्रांसफर करने का मामला अभी भी जांच के लिए लंबित है।

4. 4. जनवरी 2020 में पानी के बिल को कम करवाने के एवज में रिश्वत मांगने वाले कर्मचारी को विजिलेंस टीम पकड़ चुकी है।

भ्रष्टाचार का गढ़ बन रहा है फरीदाबाद नगर निगम, जांच के नाम पर मौन है प्रशासन

5. नगर निगम की वित्तीय शाखा में लगी आग की जांच लगभग पूरी हो चुकी है। जल्द इस मामले से पर्दा उठेगा। इसके अलावा स्ट्रीट लाइट और विज्ञापन मामले की जांच जारी है। घोटाले संबंधी मामलों में जल्द कार्रवाई की जाएगी।


बहरहाल, निगम के घोटालों की फेहरिस्त काफी लंबी है। सभी घोटालों में जांच की बात कही जाती है परंतु एक समय अंतराल के बाद जांच भी ठंडे बस्ते में चली जाती है ऐसे में यह सोचने का विषय है कि ना जाने कितने घोटाले निगम में हो रहे होंगे जिनकी जानकारी किसी को नहीं है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...