HomeFaridabadस्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश कि अब बच्चों को भी है...

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश कि अब बच्चों को भी है मास्क लगाना है जरूरी, जानिए क्यों

Published on

महामारी का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है और इस समय लोग महामारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और डबल मास्क का प्रयोग कर रहे हैं। इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति घर से बाहर निकलता है, तो वह मास्क व सैनिटाइजर साथ लेकर निकलता है।

ताकि वह महामारी से ग्रस्त ना हो सके। लोगों के मन में अभी भी डर है कि कहीं वह महामारी की चपेट में ना आ जाए इसलिए वह अपनी ओर से पूरी सावधानी बरत रहे हैं। लेकिन स्वास्थ्य विभाग के द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं कि अब बच्चों को भी मास्क लगाना जरूरी है।

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश कि अब बच्चों को भी है मास्क लगाना है जरूरी, जानिए क्यों

इसका मुख्य कारण यह है कि तीसरी लहर हमारे क्षेत्र में कभी भी दस्तक दे सकती है। इस तीसरी लहर का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर दिखाई दिया जा सकता है। इसी के चलते तीसरी लहर यानी महामारी संक्रमण का खतरा बच्चों पर ज्यादा बना हुआ है।

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश कि अब बच्चों को भी है मास्क लगाना है जरूरी, जानिए क्यों

तभी बच्चों के घरवाले भी इसी चीज से परेशान है कि तीसरी लहर बहुत ज्यादा भयानक और बच्चों पर प्रभाव डालने वाली आएगी।  इसी को लेकर सरकार ने पहले से ही तैयारियां कर ली हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा इस महामारी की स्पेशल गाइडलाइन जो केवल बच्चों के लिए जारी की गई है।

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश कि अब बच्चों को भी है मास्क लगाना है जरूरी, जानिए क्यों

इस गाइडलाइन में जो बच्चे 5 साल व उससे कम उम्र के बच्चों को मस्क ना लगाएं। जो बच्चे 6 से 11 साल तक बच्चों को उनके परिज़ानों की निगरानी में मास्क पहनना जरूरी है। साथ ही यह भी कहा गया है कि 12 से अधिक उम्र के बच्चे मास्क जरूर पहने।

इसके अलावा यह भी कहा गया है कि इस महामारी से संक्रमित बच्चों को रेमेडीसेवर इंजेक्शन लगवाने की अनुमति नहीं दी गई है। इसके अलावा किसी भी बच्चे को स्थित स्टेरॉयड भी नहीं दिया जाएगा। बच्चों के लिए 6 मिनट के वॉक टेस्ट की भी सलाह दी गई है। स्टेरॉयड बच्चों के लिए खतरनाक हो सकता है।

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश कि अब बच्चों को भी है मास्क लगाना है जरूरी, जानिए क्यों

जिन्हें इस महामारी के ज्यादा लक्षण नहीं है और अगर कोई भी बच्चा इस महामारी से ग्रस्त हो जाए और उसको ज्यादा भयानक लक्षण ना हो तो उन्हें दवाई देकर भी ठीक किया जा सकता है। जब भी आप स्टेरॉयड का इस्तेमाल करें तो डॉक्टर से पूछ ले कितनी और कब कितना डोज़ देना है।

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया निर्देश कि अब बच्चों को भी है मास्क लगाना है जरूरी, जानिए क्यों

बच्चे का सिटीस्कैन होने के बाद ही सही मात्रा में ही इसका इस्तेमाल किया जाता है। इससे डॉक्टर से सलाह जरूर लें। अगर बावचो को बुखार है तो उसको 4 से 6 घण्टे के बाद पी सी एम दे, साथ ही ज्यादा खांसी व कफ होने पर उन्हें गुनगुना पानी दे और बच्चों की तीसरी लहर से बचाने के लिए उनकी देखरेख जरूर करें। इससे बच्चे सुरक्षित रहेंगे और उनका महामारी से ग्रस्त होने का खतरा भी कम रहेगा।

Latest articles

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

Haryana के इस शख्स ने किया Bollywood के सुपरस्टार ऋतिक रोशन के साथ काम, इससे पहले भी कर चुके है कई फिल्मों में काम

प्रदेश के युवा या बुजुर्ग सिर्फ़ खेल या शिक्षा के मैदान में ही तरक्की...

More like this

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...