Homeमहिला किसान ने इस खास तकनीक से उगाए टमाटर, आज इनकी मांग...

महिला किसान ने इस खास तकनीक से उगाए टमाटर, आज इनकी मांग विदेशों तक हो रही है

Array

Published on

कुछ वर्षों पहले तक जिस खेत से लागत भी निकालना मुश्किल हो जाता था, उसी खेत में टमाटर की फसल उगाकर महिला किसान कनकलता विदेश भी भेज रहीं हैं, लेकिन यह सब इतना आसान नहीं था। अब खेती भी आमदनी का अच्छा जरिया बन चुका है। कुछ समय पहले तक किसानों का मुनाफा लागत से भी कम होता था परंतु अब किसान नई तकनीकों का प्रयोग कर नई ऊंचाई को छू रहे हैं।

अगर किसी चीज़ में कभी – कभी कुछ बदलाव किये जाएं तो यह हमें बहुत फायदा देता है। आज हम एक ऐसी महिला किसान की बात करेंगे, जिसने अपने अनोखे कार्यो से सभी को चौका दिया है। जिस खेत से लागत भी निकालना मुश्किल था, उसी खेत में इस महिला ने अपने मेहनत से टमाटर की फसल उगाई है। अब उनके टमाटर विदेश तक जा रहे हैं।

महिला किसान ने इस खास तकनीक से उगाए टमाटर, आज इनकी मांग विदेशों तक हो रही है

इस महिला किसान ने खेती की परिभाषा को बदल दिया है। 52 वर्ष की कनकलता उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर ज़िला मुख्यालय से लगभग 30 किमी दूर सीखड़ ब्लॉक में गंगा किनारे बसे विट्ठलपुर गांव में खेती करती हैं। कनकलता के खेत के टमाटर की मांग यूके और ओमान जैसे देशों से हो रही है। कनकलता बताती हैं कि पहले पारंपरिक पुराने तरीकों से खेती की जाती थी, जिससे मुनाफा तो दूर लागत भी बहुत मुश्किल से निकल पाता था।

महिला किसान ने इस खास तकनीक से उगाए टमाटर, आज इनकी मांग विदेशों तक हो रही है

देशभर में अब यह सोच समाप्त होने लगी है कि खेती – बाड़ी बस नुकसान का सौदा है। कनकलता एक बार नाबार्ड और कृषि विभाग के कैंप में गईं, तब उन्हें आधुनिक तरीके से खेती की जानकारी मिली और उन्होंने इसकी शुरूआत की। उसके बाद से वह कई बार ऐसे कैंप में जा चुकी हैं। कनकलता बताती हैं कि पहले डेढ़ बीघा खेत में मटर और देसी किस्म का टमाटर लगाती थी, जिससे अच्छी पैदावार भी नहीं होती थी।

महिला किसान ने इस खास तकनीक से उगाए टमाटर, आज इनकी मांग विदेशों तक हो रही है

आज अनेकों लोग खेती कर अपने सपनों को पूरा कर रहे हैं। वह बताती हैं कि पहले डेढ़ बीघा खेत में मटर और देसी किस्म का टमाटर लगाती थी, जिससे अच्छी पैदावार भी नहीं मिलती थी। लेकिन जब से आधुनिक तकनीक से जैविक खाद डालकर चढ़ाव विधि से टमाटर की खेती कर रही हूं तो बहुत कम लागत में बहुत अच्छी पैदावार हो रही है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...