Homeये महिलाएं बढ़ाएंगी देश का मान उड़ाकर सेना का फाइटर चॉपर जहाज,...

ये महिलाएं बढ़ाएंगी देश का मान उड़ाकर सेना का फाइटर चॉपर जहाज, मिल रही पायलट की ट्रेनिंग

Array

Published on

महिलाएं अब किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं है। वायुसेना और नौसेना के बाद अब सेना भी अपनी फ्लाइंग ब्रांच में महिला अधिकारियों के लिए रास्ता खोलने को तैयार हो गई है। जिस तरह महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर प्रगति की ओर बढ़ रही हैं ये समाज के लिए सराहना और गर्व की बात है।नए फैसले से सेना में भी महिलाओं के लड़ाकू विमान उड़ाने की राह खुल गई है।

अब भारतीय सेना के पास जल्द ही महिला पायलट होंगी जो बॉर्डर के पास ऑपरेशन्स में हिस्सा लेंगी। सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने इसका एलान करते हुए कहा कि अगले साल जुलाई में सेना की महिला पायलटों का पहला बैच ट्रेनिंग लेकर सेना की फ्लाइंग ब्रांच का हिस्सा बन जाएगा।

ये महिलाएं बढ़ाएंगी देश का मान उड़ाकर सेना का फाइटर चॉपर जहाज, मिल रही पायलट की ट्रेनिंग

दो महिला ऑर्मी ऑफिसर्स को सेलेक्ट कर लिया गया है और उन्हें इसके लिए ट्रेनिंग भी दी जाएगी। इस कदम से अगले साल सेना के तीनों अंगों में महिला पायलट जंग के लिए उड़ान भरने में पीछे नहीं रहेंगी। दरअसल, कुछ समय पहले ही महिलाओं को सेना की फ्लाइंग ब्रांच में बतौर पायलट शामिल करने के प्रस्ताव को उन्होंने मंजूरी दी है। इस प्रस्ताव पर सेना की सभी ब्रांचों ने अपनी सहमति जताई है।

ये महिलाएं बढ़ाएंगी देश का मान उड़ाकर सेना का फाइटर चॉपर जहाज, मिल रही पायलट की ट्रेनिंग

देश की सेवा में पुरुषों के साथ महिलाएं भी अपना हाथ बटा रही हैं। दो महिला अधिकारियों को पहली बार महाराष्ट्र के नासिक में बल के प्रमुख कॉम्बैट एविएशन ट्रेनिंग स्कूल में हेलीकॉप्टर पायलट के रूप में ट्रेनिंग के लिए चुना गया है। इस प्रस्ताव के बाद अब महिला पायलटों के पहले बैच की ट्रेनिंग के लिए चयन इस वर्ष जून-जुलाई में होगा। महिला सैन्य अधिकारी पायलट बनने की इस चयन प्रक्रिया में शामिल हो सकेंगी।

ये महिलाएं बढ़ाएंगी देश का मान उड़ाकर सेना का फाइटर चॉपर जहाज, मिल रही पायलट की ट्रेनिंग

महिलाएं लगातार देश का नाम रोशन कर रही हैं। कोई भी ऐसा क्षेत्र नहीं जहां महिलाएं अपना परचम न लहरा रही हों। अब यह बैच अपनी ट्रेनिंग जुलाई 2022 में पूरी कर लेगा, जिसके बाद इन्हें फ्रंटलाइन फ्लाइंग ड्यूटी में शामिल किया जाएगा।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...