HomeEducationतीसरे स्थान पर रहा फरीदाबाद जिला राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में, जिले...

तीसरे स्थान पर रहा फरीदाबाद जिला राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में, जिले के 23 बच्चे हुए शॉर्टलिस्ट

Published on

राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद् (एससीईआरटी) ने राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (एनटीएसई) के राज्य स्तरीय लेवल एक के विद्यार्थियों की शॉर्टलिस्ट सूची जारी कर दी है, जिसमें प्रदेशभर के 200 विद्यार्थियों का चयन किया गया है

सूची में 75 स्टूडेंट के साथ महेंद्रगढ़ प्रदेश में सबसे ऊपरी पायदान पर है, जबकि आधा दर्जन जिलों से किसी विद्यार्थी को इसके लिए मौका नहीं मिला। प्रदेश के 3 जिलों के विद्यार्थियों ने परचम लहराया है। जिसमें सबसे ऊपर महेंद्रगढ़ के 75 बच्चे, रेवाड़ी के 46 बच्चे और तीसरे स्थान पर जिला फरीदाबाद के 23 बच्चे शॉर्टलिस्ट हुए हैं

तीसरे स्थान पर रहा फरीदाबाद जिला राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में, जिले के 23 बच्चे हुए शॉर्टलिस्ट

सूची के अनुसार जिला झज्जर से 15, गुरुग्राम से 14, कुरूक्षेत्र व पंचकूला से 6-6, करनाल व हिसार 4-4, अम्बाला, भिवानी व सोनीपत से 2-2 और जिला चरखी दादरी, कैथल, पलवल व यमुनानगर से 1-1 बच्चे को एससीईआरटी द्वारा एनटीएसई के अंतिम परीक्षा के लिए शॉटलिस्ट किया गया है।

डीएमएस (जिला गणित विशेषज्ञ) जगदीश जाखड़ ने बताया कि एनटीएसई के लिए देशभर से 2 हजार बच्चों का विभिन्न परीक्षाओं के माध्यम से चयन किया जाता है।

तीसरे स्थान पर रहा फरीदाबाद जिला राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में, जिले के 23 बच्चे हुए शॉर्टलिस्ट

इस परीक्षा का अंतिम लेवल पास करने वाले विद्यार्थी को लाइफ टाइम छात्रवृति केंद्र सरकार द्वारा दी जाती है, जिसमें विभिन्न डिग्रियों व डिप्लोमा के लिए अलग-अलग होती है। उन्होंने बताया कि यह परीक्षा काफी मुश्किल होती है, क्योंकि प्रतिवर्ष लगभग 15 से 20 लाख बच्चे इसके लिए शॉटलिस्ट किए जाते हैं, जिनमें से मात्र 2 हजार का ही चयन किया जाता है

तीसरे स्थान पर रहा फरीदाबाद जिला राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा में, जिले के 23 बच्चे हुए शॉर्टलिस्ट

पांच जिलों से एक भी छात्र नहीं

एनटीएसई की राज्य स्तरीय लेवल-एक की परीक्षा प्रदेश के जिला फतेहाबाद, जीन्द, नूंह (मेवात), पानीपत, रोहतक और सिरसा से किसी भी विद्यार्थी को मौका नहीं मिला। एनटीएसई के लिए अंतिम परीक्षा की तिथि और समय बाद में तय किया जाएगा। इसके लिए बच्चों को 15 दिन पहले सोशल मीडिया या अन्य माध्यमों से सूचित कर दिया जाएगा। महामारी के चलते यह परीक्षा देरी से होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। जबकि प्रति वर्ष इसकी परीक्षा जून माह के तीसरे रविवार को आयोजित करवाई जाती रही है ।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...