HomePublic Issueखोरी बस्ती में खाली किए लोगों ने मकान मगर नहीं छोड़ा कब्जा,...

खोरी बस्ती में खाली किए लोगों ने मकान मगर नहीं छोड़ा कब्जा, प्रशासन करेगा कार्यवाही

Published on

खोरी बस्ती में शुरू हुई तोड़फोड़ के कार्यवाही के बाद से ही वहां बसे लोगों में अफरा तफरी का माहौल बना हुआ है। कई लोग मकान खाली कर अपने सामानों को सुरक्षित करते हुए दिखाई दिए तो, वही कुछेक ने सामान शिफ्ट करने के साथ ही कब्जा छोड़ने से मना कर दिया कुछ लोग निजी प्राइवेट वाहनों के जरिए अपना सामान लोड करवा कर खाली करते हुए दिखाई दिए तो, कहीं कोई मकान पर ताला जड़कर अपने मूल निवास की ओर चल दिया।

इसके साथ ही तोड़फड़ के चलते कई गलियों में दूर दूर तक सन्नाटा पसरा हुआ दिखाई दे रहा है। इसके अतिरिक्त तोड़फोड़ की कार्यवाही के दौरान नुकसान की भरपाई ना करनी पड़े इससे बचने के लिए लोग खुद ही घर के लोहे के दरवाजे तथा खिड़कियां उखाड़ कर अलग कर रहे हैं

खोरी बस्ती में खाली किए लोगों ने मकान मगर नहीं छोड़ा कब्जा, प्रशासन करेगा कार्यवाही

, ताकि इस कार्यवाही के दौरान इन्हें नुकसान ना पहुंचे। ऐसे में खोरी निवासी बैजनाथ ने बताया कि बताया कि वह मुंगेर, बिहार के मूल निवासी हैं। यहां काम-धंधे के सिलसिले में रह रहे हैं।

उन्होंने अब मजबूरी में तुगलकाबाद में किराये पर मकान लिया है, मगर उन्होंने खोरी के मकान से कब्जा नहीं छोड़ा है। नबी आलम ने बताया कि उन्होंने तुगलकाबाद एक्सटेंशन में किराये पर मकान लिया है।

खोरी बस्ती में खाली किए लोगों ने मकान मगर नहीं छोड़ा कब्जा, प्रशासन करेगा कार्यवाही

यहां तो अब बिजली आपूर्ति भी नहीं हो रही है। पहले दिल्ली से उनके यहां बिजली की आपूर्ति की जाती थी। चंदन शर्मा ने बताया कि उन्होंने लकड़पुर में मकान शिफ्ट कर लिया है। कई लोगों का कहना है कि अगर कार्रवाई होगी, तो वह दूसरी जगह चले जाएंगे, नहीं तो फिर से यहां आकर बस जाएंगे।

खोरी बस्ती में खाली किए लोगों ने मकान मगर नहीं छोड़ा कब्जा, प्रशासन करेगा कार्यवाही

गौरतलब, निगमायुक्त ने अपने हाथ में ली कमानखोरी बस्ती की तोड़फोड़ की कार्रवाई की कमान निगमायुक्त डा.गरिमा मित्तल ने अपने हाथ में ले ली है। संयुक्त आयुक्त का कार्यभार देख रहे जितेंद्र कुमार सहयोग कर रहे हैं। पहले नगर निगम के एनआइटी के संयुक्त आयुक्त प्रशांत अटकान तोड़फोड़ की तैयारी में आगे थे।

खोरी बस्ती में खाली किए लोगों ने मकान मगर नहीं छोड़ा कब्जा, प्रशासन करेगा कार्यवाही

गरिमा मित्तल ने बताया कि नगर निगम और पुलिस प्रशासन की ओर से पहले ही खोरी बस्ती में कई दिन से मुनादी कराने का काम चल रहा है। लगातार मुनादी और लोगों को जागरूक कर स्वयं ही अपने मकान खाली करने का दबाव और उन्हें अपना सामान निकालने का समय देकर प्रशासन ने सूझबूझ की रणनीति अपनाई। मुनादी के बाद लोगों ने मकान का सामान शिफ्ट कर है। इसके बाद कई गलियां बिल्कुल सुनसान हो गई हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...