HomeFaridabadशहर की विकास परियोजनाएं लटकी हुई है अधर में, प्रशासन का नहीं...

शहर की विकास परियोजनाएं लटकी हुई है अधर में, प्रशासन का नहीं है ध्यान

Published on

शहर की कई परियोजनाएं इन दिनों अधिकारियों की लापरवाही के चलते अधर में लटके हुए हैं इसका ताजातरीन उदाहरण गुरुग्राम नहर के पुल पर देखने को मिल रहा है।

सेक्टर 3 इलाके में गुरुग्राम नहर के पुल की जर्जर हालत होने के कारण उसे तोड़ दिया गया है परंतु काफी समय बीत जाने के बावजूद भी अभी तक इसका निर्माण नहीं हो पाया है। पुल का निर्माण ना होने के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

दरअसल, लॉकडाउन के चलते गुरुग्राम नहर के पुल का काम अधर में लटका हुआ है। काम अधूरे होने की वजह से लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उनका काम अधर में लटके होने के कारण लोगों को कई किलोमीटर घूम कर रास्ता तय करना पड़ रहा है।

शहर की विकास परियोजनाएं लटकी हुई है अधर में, प्रशासन का नहीं है ध्यान

स्थानीय लोगों का मानना है कि पुल बन जाने के बाद सेक्टर 4, 8, 5 चावला कॉलोनी समेत कई इलाकों के लोगों को काफी सहूलियत हो जाएगी। आपको बता दें कि इस पुल के साथ कई दुकाने लगते हैं जिसकी वजह से यहां प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में लोगों का आवागमन होता था परंतु पुल क्षतिग्रस्त होने के कारण लोगों को काफी लंबा घूम कर आना पड़ रहा है।

जानकारी के मुताबिक सिंचाई विभाग की ओर से पुल निर्माण के लिए 6.87 करोड रुपए की धनराशि आवंटित की गई है वहीं अधिकारियों का दावा है कि आगामी 6 महीनों में पुल का निर्माण पूरा हो जाएगा हालांकि बीते 2 सप्ताह से पुल का काम ठप पड़ा हुआ है।

शहर की विकास परियोजनाएं लटकी हुई है अधर में, प्रशासन का नहीं है ध्यान

सिंचाई विभाग के एसडीओ अरविंद कुमार का कहना है कि लॉकडाउन के कारण पुल का काम कुछ समय के लिए रुक गया है लेकिन काम को तेजी से चलाया जाएगा। दिसंबर तक पुल बना दिया जाएगा जिससे लोगों की परेशानी कम हो सके।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...