HomeUncategorizedमुस्लिम दोस्त की किडनैप हुई बहन को बचाने 230 किलोमीटर तक दौड़...

मुस्लिम दोस्त की किडनैप हुई बहन को बचाने 230 किलोमीटर तक दौड़ पड़ा हिंदू दोस्त, ऐसे किया रेस्क्यू

Published on

यूपी के बांदामें एक हिंदू युवक ने धार्मिक एकता की मिसाल पेश की है। अपने मुस्लिम दोस्त की अगवा हुई बहन को गुंडों के चंगुल से छुड़ाने के लिए युवक ट्रेन के पीछे 230 किमी तक दौड़ गया। आखिरकार उसने दोस्त की बहन को गुंडों के चंगुल से आजाद करा ही लिया। यह घटना बांदा के बिसंडा थाना इलाके की है।


यूपी के जिले में एक शख्स ने हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल पेश की है। वैसे तो “हिंदू-मुस्लिम” नाम आते ही कुछ कट्टरपंथी के कान खड़े हो जाते हैं हिंदू और मुस्लिम हमेशा से ही आपसी भाईचारा व सौहार्द निभाते आए हैं। दरअसल यह खबर पढ़ते ही आप भी इस युवक की तारीफ करते हुए नहीं थकेंगे।

दरअसल यह युवक ट्रेन के पीछे पीछे 230 किलोमीटर तक दौड़ गया। आपको बता दें इस युवक ने अपने मुस्लिम दोस्त की बहन को किडनैप होते हुए देख लिया था। कुछ लोग इस युवती को अगवा करके ट्रेन में बिठाकर ले जा रहे थे। इसकी सूचना जब इस युवक को मिली तो इसने अपने दोस्त की बहन को बदमाशों से बचाने के लिए 230 किलोमीटर दूर तक पीछा किया।


खबर के मुताबिक एक 17 साल की युवती को कुछ बदमाशों ने बहला-फुसलाकर किडनैप कर लिया। किडनैपर ने उस लड़की को चार बदमाशों को सौंप दिया और वह उसे ट्रेन में बैठा कर ले गए। हिंदू दोस्त को जब यह पता चला कि उसकी बहन किडनैप हो गई है तो उसने अपनी कार से बदमाशों का पीछा किया।

उसके मुंबई जाना वाले एक दोस्त ने लड़की के ट्रेन में होने की खबर दी। जिसके बाद हिंदू दोस्त ने कार से ट्रेन का पीछा करना शुरू कर दिया। वह करीब 230 किमी तक ट्रेन के पीछे दौड़ गया. उनसे तुरंत महोबा जीआरपी से मदद की गुहार लगाई। उन्होंने तुरंत झांसी जीआरपी को मामले की खबर दी और लड़की का फोटो उन्हें भेज दिया।


झांसी जीआरपी ने मुस्तैदी दिखाते हुए ट्रेन को रुकवा दिया और कोच को घेर लिया। तलाशी के बाद उन्होंने किडनैप की गई लड़की को चारों बदमाशों के चंगुल से छुड़ा लिया। लेकिन वहीं आरोपी वहां से फरार होने में कामयाब हो गए। बताया जा रहा है कि इस मामले में चौकी इंचार्ज ने एक संदिग्ध युवक को हिरासत में लिया था। लेकिन बिना कार्रवाई के ही दूसरे दिन छोड़ दिया। इसके बाद पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...