HomeFaridabadविद्यार्थियों की घटी संख्या, स्कूलों पर आई मुसीबत, जिला शिक्षा अधिकारी ने...

विद्यार्थियों की घटी संख्या, स्कूलों पर आई मुसीबत, जिला शिक्षा अधिकारी ने जारी कर दिया कारण बताओ नोटिस

Published on


जिले के राजकीय स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग सख्त है। जहां एक तरफ शिक्षा विभाग विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने के लिए रणनीति तैयार कर उसका क्रियान्वयन कर रहा है वहीं दूसरी तरफ जिला शिक्षा अधिकारी रितु चौधरी ने शहर के राजकीय स्कूलों में छात्र संख्या कम होने पर कारण सभी विद्यालय मुखिया को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।


दरअसल, वर्ष 2021- 22 के सत्र में राजकीय स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या में काफी गिरावट देखने मिली है। शिक्षा विभाग लगातार विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने के लिए कार्य कर रहा है वही फरीदाबाद के राजकीय स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या में कुछ खास इजाफा देखने को नहीं मिल रहा।

विद्यार्थियों की घटी संख्या, स्कूलों पर आई मुसीबत, जिला शिक्षा अधिकारी ने जारी कर दिया कारण बताओ नोटिस

शिक्षा विभाग की ओर से जारी पत्र के अनुसार एक हफ्ते में विद्यार्थियों की संख्या पिछले वर्ष से ज्यादा करने के आदेश दिए गए थे जिसे ज्यादातर स्कूल पूरा नहीं कर पाए वहीं अब जिला शिक्षा कार्यालय की ओर से इन स्कूलों को कारण बताओ नोटिस जारी हुआ है।

साथ ही विद्यार्थियों का ब्यौरा एमआईएस पोर्टल पर दर्ज कराने के भी आदेश दिए गए हैं। कक्षा पहली में अभी तक सबसे कम दाखिले हुए हैं ऐसे में पहली कक्षा में अधिक से अधिक विद्यार्थियों को दाखिल किया जाए तथा उनका भी ब्यौरा एमआईएस पोर्टल पर दर्ज किया जाए।

विद्यार्थियों की घटी संख्या, स्कूलों पर आई मुसीबत, जिला शिक्षा अधिकारी ने जारी कर दिया कारण बताओ नोटिस

आपको बता दें कि लॉकडाउन के चलते प्रदेश भर के सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या में काफी गिरावट देखने को मिल रही है।

शिक्षा निदेशालय की ओर से विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने हेतु एक हफ्ते पूर्व एक मीटिंग का आयोजन भी किया गया था जिसमें सभी स्कूलों के मुखियाओं को विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने के आदेश दिए गए थे परंतु शहर के राजकीय स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या में कुछ खास इजाफा देखने को नहीं मिला ऐसे में अब जिला शिक्षा कार्यालय की ओर से सभी स्कूल मुखिया को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...