Homeअपने शौक को बना दिया प्रोफेशन, खुद की ब्रांड बनाकर लोगों को...

अपने शौक को बना दिया प्रोफेशन, खुद की ब्रांड बनाकर लोगों को दे रहीं नौकरी, काफी प्रेरणा देती है इनकी कहानी

Published on

जीवन में हम सभी सफलता के बहुत सपने देखते है। सफलता को पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। आज के दौर में बिजनेस के लिए जिस तरीके से डिजिटल प्लेटफॉर्म्स, सोशल मीडिया सरीखी अन्य कई साधन बेहद कारगर सिद्ध हो रहे हैं। ऐसे में आज हर कोई यह चाहता है कि वह भी स्टार्टअप करे और उनका अपना बिजनेस हो।

कभी – कभी आपका लक्ष्य बड़ा होने के कारण सपनों को साकार होने में लंबा वक़्त भी लगता है और कई बार भाग्य भी हमें आजमाता है। मगर हमें हार नहीं माननी चाहिए। इसी संदर्भ में आज बात एक ऐसी हीं महिला उद्यमी मानस्वी की जिन्होंने एक छोटे से स्टार्टअप से अपने व्यापार की शुरुआत की और आज उन्होंने खुद का एक ब्रांड स्थापित कर लिया है।

अपने शौक को बना दिया प्रोफेशन, खुद की ब्रांड बनाकर लोगों को दे रहीं नौकरी, काफी प्रेरणा देती है इनकी कहानी

बार-बार मिल रही नाकामयाबी से मन हारने लगता है लेकिन जो इसे जीत लेता है वह इतिहास रच देता है। मानस्वी हैदराबाद की रहने वाली हैं। उन्होंने अपनी पढ़ाई चेन्नई से की है। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी से फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद उन्होंने खुद का बिजनेस स्थापित करने का सोंचा। हालांकि पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने कुछ फ्रीलांस प्रोजेक्ट की, कुछ कंपनियों में काम भी किया।

अपने शौक को बना दिया प्रोफेशन, खुद की ब्रांड बनाकर लोगों को दे रहीं नौकरी, काफी प्रेरणा देती है इनकी कहानी

हर किसी के जीवन में संघर्ष का आना लिखा होता है। जो संघर्ष में सकारात्मक रहता है और अपने लक्ष्य से ध्यान नहीं हटाता उसे सफलता मिलती ज़रूर है। मनस्वी ने भी काफी संघर्ष देखा है। वह कुछ बड़ा करना चाहती थीं जिसके बाद उन्होंने कपङे के क्षेत्र में खुद का ब्रांड स्थापित करने का विचार बनाया। वह कहती हैं कि मुझे उस समय लगा कि खुद का बिजनेस करना एक रिस्क की बात है लेकिन यदि मैं रिस्क अभी नहीं लूंगी तो कब लूंगी क्योंकि रिस्क लेने का समय तो अभी हीं है।

अपने शौक को बना दिया प्रोफेशन, खुद की ब्रांड बनाकर लोगों को दे रहीं नौकरी, काफी प्रेरणा देती है इनकी कहानी

रिस्क लेने से कभी – कभी बड़े नाम बन जाते हैं। लेकिन रिस्क न लेने से कभी – कभी बड़े – बड़े नाम भी छोटे हो जाते हैं। मनस्वी ने वर्ष 2015 में “Unemployed Brains” नाम से अपने ब्रांड की शुरुआत की। आज वह अच्छा कमा रही हैं और दूसरों को रोजगार भी दे रही हैं।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...