HomeFaridabadएचएसवीपी ने उठाये कड़े कदम, बकाया राशि जमा न करवाने पर संपत्ति...

एचएसवीपी ने उठाये कड़े कदम, बकाया राशि जमा न करवाने पर संपत्ति हो सकती है सील

Published on

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) बकायदारों से 200 करोड़ रुपये वसूलने की तैयारी में जुटा हुआ है। प्राधिकरण द्वारा चार हजार से अधिक लोगों को वसूली का नोटिस भेज दिया गया है।

पेट्रोल–सीएनजी पंप संचालकों, बूथ, एससीओ (शॉप कम फ्लैट) सहित अन्य प्लॉटधारकों से बकाया राशि वसूला जाएगा। इन पर करीब 500 करोड़ रुपए की राशि बकाया है।

एचएसवीपी ने उठाये कड़े कदम, बकाया राशि जमा न करवाने पर संपत्ति हो सकती है सील

आपको बता दें कि एचएसवीपी का बकायेदारों पर लगभग 500 करोड़ रूपये की राशि बकाया है। इसमें से ज्यादातर रकम एक से डेढ़ दशक पहले की भी है। इसकी वसूली के लिए पहले भी नोटिस भेजे जा चुके हैं परंतु सख्ती न होने के कारण वसूली नहीं की जा सकी।

एचएसवीपी ने उठाये कड़े कदम, बकाया राशि जमा न करवाने पर संपत्ति हो सकती है सील

इस समय एचएसवीपी की हालत खस्ता है। नौबत ऐसी आ गई है कि स्टाफ के सदस्यों को समय पर वेतन देने में भी असमर्थ हैं। बजट न होने के कारण विकास कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। इसके अभाव में सेक्टर 72–73 विभाज्य सड़क से तिगांव सड़क की सीधी कनेक्टिविटी होने में कई महीने लग गए।

ग्रेटर फरीदाबाद में चौराहों का सुंदरीकरण, अटल लाइब्रेरी व सेक्टर 31 में इंडोर स्टेडियम का निर्माण कार्य भी पर्याप्त बजट न होने के कारण प्रभावित हो रहा है।

एचएसवीपी ने उठाये कड़े कदम, बकाया राशि जमा न करवाने पर संपत्ति हो सकती है सील

एचएसवीएपी के संपदा अधिकारी जितेंद्र कुमार ने बताया कि बकायेदारों को समय पर बकाया राशि जमा करने के नोटिस भेजे जा रहे हैं। इन सभी को 30 दिन का समय दिया गया है। इसके बाद भी अगर कोई बकाया राशि का भुगतान नहीं करता तो उसकी संपत्ति सील या रिज्यूम की जाएगी।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...