HomeFaridabadजिले में बाजार बंद से गरमाया माहौल, फैसला आने का है इंतज़ार

जिले में बाजार बंद से गरमाया माहौल, फैसला आने का है इंतज़ार

Published on

फरीदाबाद : हरियाणा में धीरे धीरे लॉकडाउन अनलॉक की तरफ बढ़ रहा है नए नियमो के साथ 21 जून को एक बार फिर अनेको रियायतों के घोषणा हुई की अब नए नियम होंगे लागू पर इस बार काफी कुछ बदल गया है इस बार राहत के साथ बंदी का एलान हुआ है

लेकिन सफ्ताह को खुलने वाले बाजार को अभी असमंज की स्तिथि है जिला उपायुक्त द्वारा मौखिक तौर पर आदेश आये की फरीदाबाद में रविवार को सभी दुकाने बन्द की जाये इस कारण केवल फरीदाबाद में ही रविवार को दुकाने बंद रही।

जिले में बाजार बंद से गरमाया माहौल, फैसला आने का है इंतज़ार

साथ ही रविवार को बाजार बंदी को लेकर एनआईटी और बल्लभगढ़ व्यापार मंडल के प्रधानों में टकराव पैदा गया है एक ओर कहा जा रहा है की रविवार को बाजार बंद होने से व्यापारिओं पर आर्थिक संकट और घराने लगेगा वही दूसरी ओर इस बात पर सहमति दर्ज की जा रही है की महमारी को देखते हुए यह एक सही फैसला साबित होगा

फरीदाबाद जिला उपायुक्त यशपाल यादव द्वारा रविवार को बाजार बंद के आदेश दिए गये थे, जिससे एनआईटी और बल्लभगढ़ व्यापार मंडल के प्रधानों में टकराव की स्थति पैदा हो गई है एनआईटी व्यापर मंडल के प्रधान जगदीश भाटिया ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा की महामारी का समय चल रहा है मेरे साथ अन्य जुड़े हुए प्रधानो ने आकर मांग की है

जिले में बाजार बंद से गरमाया माहौल, फैसला आने का है इंतज़ार

की एक दिन का साप्ताहिक अवकाश दिया है यदि इसके बावजूद सरकार एवं प्रशासन किसी अन्य दिन साप्ताहिक अवकाश घोषित करना चाहे तो व्यापारी उनके आदेश मानने के लिए सहर्ष तैयार हैं।

मगर इसमें उनकी एक अपील है कि सरकार जिस भी दिन साप्ताहिक अवकाश लागू करे, उस दिन इंडस्ट्रीज से लेकर बैंक एवं सभी बाजार भी बंद होने चाहिएं, ताकि व्यापारी को साप्ताहिक अवकाश का लाभ मिल सके। श्री भाटिया ने कहा कि व्यापारियों की मांग जायज है और व्यापार मंडल सप्ताह में एक दिन अवकाश के पक्ष में है। इसलिए सरकार उनकी इस मांग पर सहानभूति पूर्वक विचार करे।

जिले में बाजार बंद से गरमाया माहौल, फैसला आने का है इंतज़ार

वही इस बात से बल्लभग़ढ़ व्यापर मंडल के प्रधान प्रेम खटटर नाखुश नजर आ रहे उन्होंने कहा की हरियाणा सरकार ने लॉकडाउन हटा दिया है किसी प्रकार का बीक एंड साप्ताहिक अवकाश घोषित नहीं किया है भारत सरकार के आदेश अनुसार बाजार सप्ताह में 7 दिन खुल सकते हैं फरीदाबाद में सभी मॉल रोज खुल रहे हैं यह है वास्तविकता

लॉकडाउन से पूर्व कुछ बाजार अपनी सुविधा अनुसार महीना में एक दिन जैसे एक तारीख 25 तारीख आखरी रविवार मंगलवार या शनिवार स्वेच्छा से बाजार बंद रखते थे यदि व्यापारी चाहे तो दोबारा दुकान बंद कर सकते हैं फरीदाबाद जिले में लगभग 50,000 दुकानें हैं 100 ,200 व्यापारी जो बंद चाहते हैं

जिले में बाजार बंद से गरमाया माहौल, फैसला आने का है इंतज़ार

अपनी इच्छा हर व्यापारी पर नहीं थोप सकते ना ही कोई व्यापारी मानेगा ऐसी स्थिति में हमारा सुझाव है जो व्यापारी अपनी दुकान सप्ताह में 1 दिन या 2 दिन शनिवार रविवार दुकान बंद चाहते हैं वह स्वयं दुकान बंद रख सकते हैं तथा अन्य व्यापारियों को महान आदर्श प्रस्तुत करें कोई बंद रखे या ना रखे मैं अपनी दुकान बंद रखूंगा हो सकता है आपके इस कुशल व्यवहार से दूसरे भी दुकान बंद रखना शुरू कर दें

जिले में बाजार बंद से गरमाया माहौल, फैसला आने का है इंतज़ार

व्यापारी के ऊपर पहले से ही जिम्मेदरियो का बोझ है इसमें भी यदि रविवार के दिन का अवकाश होता है तो उससे व्यापारी को काफी परेशानी हो सकती है इस बाबट हमने जिला उपुक्त को ज्ञापन सौंपा गया है की रविवार के अवकाश के आदेश को रद्द कर व्यापारी को राहत दे

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...