Homeइस जानवर के दूध से शुरू किया सौंदर्य उत्पादन बनाने का व्यापार,...

इस जानवर के दूध से शुरू किया सौंदर्य उत्पादन बनाने का व्यापार, अब कमा रहे लाखों रुपये, ऐसे आप भी कमा सकते हैं

Published on

हर कोई अपना खुद का काम करना चाहता है। यह सोच आसान है लेकिन इसे अमल में लाना काफी कठिन। आज के युग में हर व्यक्ति की स्वयं का व्यापार स्थापित करने की इच्छा होती है। अब यह तथ्य थोड़ा भिन्न है कि प्रत्येक व्यक्ति का दृष्टिकोण अलग होता है, लेकिन सभी यही ख़्वाहिश रखते हैं कि ग्राहक हमेशा नए और आशाजनक विकल्पों का चयन करें। यह बात खासकर तब लागू होती है, जब स्वास्थ्य और सुरक्षा जैसे पहलुओं की बात हो।

खुद का काम करने के लिए सबसे पहले आपको खुद पर भरोसा चाहिए। अगर आपमें भरोसा नहीं है तो आप कुछ भी नहीं कर सकते हैं। दुग्ध उत्पादों में प्रतिस्पर्धा अधिक है क्योंकि इसमें बहुत सी मौजूदा कंपनियां काम कर रही हैं। वहीं एक शख़्स ने गाय, बकरी या भैस के दूध के बजाए, गधे के दूध का उत्पादन शुरू कर सफलता की इबादत को लिखा है।

इस जानवर के दूध से शुरू किया सौंदर्य उत्पादन बनाने का व्यापार, अब कमा रहे लाखों रुपये, ऐसे आप भी कमा सकते हैं

जो खुद पर यकीन करता है और सकारात्मक रहता है उसे सफलता मिल ही जाती है। सफलता मिलना मुश्किल नहीं है बस मेहनत करते रहनी चाहिए। जैविक सौंदर्य उत्पादों को बनाने के लिए गधे के दूध का उपयोग कर सफलता हासिल करने वाले व्यक्ति एबी बेबी हैं। जिन्हें उद्यमी बनने की प्रेरणा उनके लंदन से लौटे उनके एक मित्र से मिली।

इस जानवर के दूध से शुरू किया सौंदर्य उत्पादन बनाने का व्यापार, अब कमा रहे लाखों रुपये, ऐसे आप भी कमा सकते हैं

प्रेरणा आपको आपके परिवार से लेकर आपके दोस्त कहीं से भी मिल सकती है। ज़रूरत होती है उस प्रेरणा को सफलता में बदलने की। इनकी इस यात्रा की शुरुआत बाइबिल के शब्दों से हुई जिसमें लिखा था कि “यीशु होसाना के दिन एक गधे के ऊपर यरूशलेम शहर में प्रवेश कियें।” एक अन्य बाइबिल चरित्र अय्यूब के पास 1,000 गधे थे।

Aby Baby Apparels Pvt Ltd - reviews, photos, phone number and address -  Clothing and shoes in Mumbai - Nicelocal.in

जीवन में व्यक्ति को निरंतर आगे बढ़ते रहना चाहिए। जो हो गया उसपर ध्यान नहीं देना चाहिए। एबी बाइबल का सच्चा विश्वासी होने के नाते हमेशा सोचते थे कि यीशु ने अपने भव्य प्रवेश के लिए एक घोड़े को क्यों नहीं चुना, या अय्यूब ने जेनी क्यों पाले? तब से उन्होंने इस बात पर अमल कर स्वयं का कार्य करने का निश्चय किया।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...