HomeIndiaSBI, सरकारी गोल्ड ब्रैंड स्कीम आज से खुल रहा है जानिए गोल्ड...

SBI, सरकारी गोल्ड ब्रैंड स्कीम आज से खुल रहा है जानिए गोल्ड कर्ज़ के बारे में सबकुछ

Published on

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2020-21 का तीसरा चरण सोमवार 8 जून 2020 यानी आज से सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा। इस बॉन्ड को सब्सक्राइब करने के लिए पांच दिन का समय है, मतलब ग्राहक से 12 जून, 2020 तक सब्सक्राइब कर सकते हैं। RBI ने तीसरे चरण के गोल्ड बॉन्ड के लिए 4,677 प्रति ग्राम की कीमत तय की है। आरबीआई ने कहा है, ‘सब्सक्रिप्शन की अवधि से पहले तीन कारोबारी सत्र (तीन जून-पांच जून, 2020) में 24 कैरेट सोने की क्लोजिंग प्राइस के औसत के आधार पर बॉन्ड की नॉमिनल कीमत 4,677 रुपये प्रति ग्राम तय हुई है।’ उल्लेखनीय है कि केंद्रीय बैंक ने अप्रैल में ऐलान किया था कि सरकार 20 अप्रैल से सितंबर के बीच छह किस्त में गोल्ड बॉन्ड जारी करेगी।

SBI, सरकारी गोल्ड ब्रैंड स्कीम आज से खुल रहा है जानिए गोल्ड कर्ज़ के बारे में सबकुछ

देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने व्यक्तिगत गोल्ड कर्ज़ ऑफर पेश किया है। इस स्कीम के जरिए आप अपनी किसी भी आवश्यकता को सोने पर कर्ज़ लेकर पूरा कर सकते हैं। इसके तहत ग्राहक 20 लाख रुपए तक के लोन का फायदा उठा सकता है। एसबीआई के अनुसार न्यूनतम कागजी कार्रवाई व कम ब्याज दरों के साथ बैंकों द्वारा बेचे गए सोने के सिक्कों सहित सोने के गहने गिरवी रखकर बैंक से गोल्ड कर्ज़ का फायदा उठाया जा सकता है।

इसमें भारतीय नागरिक, हिन्दू अविभाजित परिवार, ट्रस्ट, यूनिवर्सिटी और चैरिटेबल इंस्टीट्यूट्स ही ये बॉन्ड खरीद सकते हैं। मालूम हो कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड आठ साल के लिए जारी किया जाता है। पांचवें साल के बाद आपको इस बॉन्ड स्कीम से एक्जिट करने का ऑप्शन मिलता है। यह कमर्शियल बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन, डाकघरों और स्टॉक एक्सचेंज BSE और NSE द्वारा बेचा जाता है।

SBI, सरकारी गोल्ड ब्रैंड स्कीम आज से खुल रहा है जानिए गोल्ड कर्ज़ के बारे में सबकुछ

इस योजना के तहत कोई भी व्यक्ति न्यूनतम एक ग्राम का गोल्ड बॉन्ड खरीद सकता है। कोई भी व्यक्ति एक वित्त वर्ष में अधिकतम चार किलोग्राम, अविभाजित हिन्दू परिवार भी अधिकतम चार किलोग्राम और ट्रस्ट 20 किलोग्राम तक का गोल्ड बॉन्ड खरीद सकता है।
विशेषज्ञों के मुताबिक फिजिकल गोल्ड कई लिहाज से फायदेमंद है। सबसे पहले तो आपको फिजिकल गोल्ड की तरह गोल्ड बॉन्ड की सुरक्षा और गुणवत्ता की चिंता करने की जरूरत नहीं होती है। दूसरी बात आपको गोल्ड बॉन्ड को रखने के लिए लॉकर लेने और उसपर अलग से खर्च करने की जरूरत नहीं होती है। इसके अलावा आपको 2.5 फीसद सालाना की दर से ब्याज भी मिलता है।

Written by- Prashant K Sonni

Latest articles

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

Haryana के इस शख्स ने किया Bollywood के सुपरस्टार ऋतिक रोशन के साथ काम, इससे पहले भी कर चुके है कई फिल्मों में काम

प्रदेश के युवा या बुजुर्ग सिर्फ़ खेल या शिक्षा के मैदान में ही तरक्की...

More like this

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...