HomeEducationशिक्षा : मूल्यांकन नीति में छात्रों को मिले मार्क्स के सबूत होंगे...

शिक्षा : मूल्यांकन नीति में छात्रों को मिले मार्क्स के सबूत होंगे टेबुलेशन पोर्टल पर दर्ज

Published on

संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जहां एक तरफ कई महीनों से स्कूल में बच्चों की चहल पहल सुनाई नहीं दें रही है, तो वहीं दूसरी तरफ छात्रों के बोर्ड परिणामों की घोषणा भी अब बिना बोर्ड परीक्षा लिए ही किए जाने के फैसले पर कई छात्र खुश तो कई छात्र नाखुश भी दिखाई दिए हैं। ऐसे में अब सीबीएसई द्वारा बारहवीं कक्षा का बोर्ड परिणाम जारी करने हेतु मूल्यांकन नीति जारी करते हुए स्कूलों की ओर से कमेटी गठित कर मूल्यांकन किया जा रहा है।

दरअसल स्कूलों की सहायता से हेल्प डेस्क डेस्क व आईटी सिस्टम यानी टेबुलेशन पॉलिसी कॉम्प्रिहेंसिव रिजल्ट टेबुलेशन पोर्टल जारी किया है। जिसके बाद बोर्ड की ऑफिशियल साइट पर हेल्प लाइन के लिए नंबर जारी किए हैं। इन नंबरों पर फोन कर स्कूल सहायता ले सकते हैं।

शिक्षा : मूल्यांकन नीति में छात्रों को मिले मार्क्स के सबूत होंगे टेबुलेशन पोर्टल पर दर्ज

आईटी सिस्टम व हेल्प डेस्क से स्कूलों को परिणाम तैयार करने में मदद मिलेगी। बोर्ड से जारी किए गए हेल्प डेस्क पर स्कूल शिक्षक अपनी समस्या का फोन पर समाधान ले सकते हैं। बोर्ड ने हेल्प डेस्क पर एक्सपर्ट की टीम गठित की है जोकि परिणाम तैयार करने में स्कूलों की मदद करेगी। बोर्ड ने दो दिन पहले ही हेल्प डेस्क व आईटी सिस्टम जारी किया है। सीबीएसई की वेबसाइट प जिला कोऑर्डिनेट को इसके बारे में जानकारी भी दी है।

शिक्षा : मूल्यांकन नीति में छात्रों को मिले मार्क्स के सबूत होंगे टेबुलेशन पोर्टल पर दर्ज

इस पोर्टल के जरिए सभी स्कूलों को विभिन्न कक्षाओं और परीक्षाओं में विद्यार्थी के नंबर अपलोड करने होंगे। स्कूलों के पास ऐसी कोई पॉलिसी नहीं है कि वह अपनी मर्जी से विद्यार्थियों के मनचाहे नंबर दे सकें। इसमें बदलाव भी नहीं किया जा सकता है। बोर्ड की ओर से दी गई पॉलिसी के आधार पर ही स्कूल नंबर लगा सकते हैं।

शिक्षा : मूल्यांकन नीति में छात्रों को मिले मार्क्स के सबूत होंगे टेबुलेशन पोर्टल पर दर्ज

हेल्प डेस्क के लिए बोर्ड की ओर से 9311226587, 9311226588 व 9311226589 जारी किए गए हैं। इन नंबरों पर हेल्प के लिए फोन किया जा सकता है। अगर कोई तकनीकी दिक्कत आ रही है तो इसके लिए अलग से नंबर 9311226591 जारी किया है। शिक्षक या स्कूल की समस्या के लिए कॉल कर सकते हैं। इन नंबरों पर कार्यदिवस पर ही काॅल की जा सकती है। अन्यथा अवकाश वाले दिनों में नंबर पर कॉल करने पर किसी प्रकार की सहायता उपलब्ध होना मुश्किल हो।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...