HomeUncategorizedइस नई तकनीक के साथ शहरी क्षेत्र में खाली पड़े स्थान को...

इस नई तकनीक के साथ शहरी क्षेत्र में खाली पड़े स्थान को बनाया गया अर्बन फॉरेस्ट

Published on

फरीदाबाद। डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने रोटरी क्लब फरीदाबाद मिड टाउन के सहयोग से मियावाकी तकनीक के साथ शहरी क्षेत्र में खाली पड़े स्थान को अर्बन फोरेस्ट के रूप में विकसित करने की प्रक्रिया के तहत 310 पौधे लगाए हैं।मियावाकी प्रक्रिया पोटेड सीडिंग प्रणाली है जिसके तहत न्यूनतम पानी, आर्गेनिक और अन्य सुविधाओं के पौधों को रोपित किया जाता है और पौधों का विकास सामान्य प्रक्रिया से 20 गुणा से अधिक ग्रोथ के साथ होता है।

डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान श्री जे पी मल्होत्रा ने बताया कि मियावाकी तकनीक के साथ प्राकृतिक रूप से पौधों को संरक्षित किया जाता है और उसकी ग्रोथ पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

इस नई तकनीक के साथ शहरी क्षेत्र में खाली पड़े स्थान को बनाया गया अर्बन फॉरेस्ट

फरीदाबाद पुलिस उपायुक्त डा0 अर्पित जैन ने मियावाकी तकनीक के तहत पौधारोपण कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि वास्तव में पर्यावरण से जुडऩे तथा पौधारोपण को तीव्र गति देने के लिये यह एक प्रभावी पहल हो सकती है।

इस नई तकनीक के साथ शहरी क्षेत्र में खाली पड़े स्थान को बनाया गया अर्बन फॉरेस्ट

मल्होत्रा ने बताया कि फिलहाल 10 स्थानों को चुना गया है जहां फोर लेयर सिस्टम के तहत पौधारोपण किया जाएगा। आपने बताया कि एक स्कवायर मीटर में तीन से चार प्लांट लगाए जाएंगे और ऐसा इको सिस्टम तैयार किया जाएगा जिससे पौधारोपण उपरांत पौधों का विकास प्रभावी गति से हो सके।

मल्होत्रा ने जानकारी दी कि तीन फीट की गहराई में खुदाई की गई है जहां न्यूट्रीशनल एनीमल्स जिनमें कोकोपीट, कम्पोस्ट, गाय का गोबर, उपजाऊ मिट्टी का प्रयोग होगा।
डा0 अर्पित जैन ने डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन को सुझाव दिया कि नींबू, पिलखान, आम, शीशम, पीपल, अशोका, नीम, गुलमोहर इत्यादि के पौधों को लगाया जाए।

इस नई तकनीक के साथ शहरी क्षेत्र में खाली पड़े स्थान को बनाया गया अर्बन फॉरेस्ट

रोटरी क्लब फरीदाबाद मिड टाउन के प्रधान श्री पंकज गर्ग ने इस विशेष मुहिम के लिये श्री जे पी मल्होत्रा व उनकी टीम की सराहना की।उल्लेखनीय है यह प्रोजैक्ट फोरेस्ट क्रिएशन मुंबई की देखरेख में संचालित किया जाएगा।

इस नई तकनीक के साथ शहरी क्षेत्र में खाली पड़े स्थान को बनाया गया अर्बन फॉरेस्ट

प्रोजैक्ट के तहत 25000 पौधे लगाए जाने हैं और इसके लिये 79 स्थान भारत भर में चयनित किए गए हैं। फोरेस्ट क्रिएशन की अध्यक्षा सुश्री नीलिमा झुनझुनवाला ने बताया कि जून-जुलाई 2021 तक इस प्रोजैक्ट को लक्षित किया गया है।

इस अवसर पर एस के बत्तरा, अजय कॉक, विजय राघवन, आशीष वर्मा, डिम्पल वर्मा, विजय पाल, राधिका कौशिक, एस के बागडिय़ा व उनकी टीम एन सी धवन, डा0 पुनीता हसीजा, नरेश गुप्ता, सुधीर जैनी, अमरजीत लाम्बा, कुलदीप सिंह, मिनाल गर्ग, सुरूचि जैन, सचिन जैन, मंजीत सिंह, मनप्रीत सिंह, ललित साहनी, रोहित भंडारी, पवन कोहली, ओ पी सिंघानिया, पोलर आटो, आटो स्र्टाट, भारतीय बाल्व, टैप डीसी, सुपर शार्प, शुकारा, एडवांड फोरजिंग, बैस्टो के प्रतिनिधियों की उपस्थिति विशेष रूप से उल्लेखनीय रही। कार्यक्रम में नीलकंठ के श्री शैलेंद्र, श्री अनिल काफी सक्रिय देखे गये जबकि नगर निगम आयुक्त डा0 गरिमा मित्तल के सहयोग की भी मुक्तकंठ से सराहना की गई।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...