HomeLife StyleEntertainmentरामायण और महाभारत से 2020 में याद आई हिन्दू संस्कृति

रामायण और महाभारत से 2020 में याद आई हिन्दू संस्कृति

Published on

कोरोना से लड़ने वाली इस जंग में सरकार द्वारा लॉक डाउन लगाया गया ।ऐसे में कई लोगों के मन में ये आशंका उत्पन हुई की आखिर कैसे वो ये दिन घरों में बिताएंगे । जो लोग पूरा दिन काम काज में व्यस्त रहते थे , उनका समय घर में भला कैसे बीते । इस समस्या को भी सुलझाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीवी चैनल डीडी पर पुराने दौर के टीवी शो दुबारा दिखाने का निर्णय लिया । जिससे लोग आसानी से अपने बच्चों के साथ बैठ कर हिन्दू संस्कृति की मिसाल बताएं जाने वाले टीवी शो को देख सकेगी ।

कब रामायण और महाभारत की हुइ शूटिंग ?

रामायण और महाभारत से 2020 में याद आई हिन्दू संस्कृति

रामायण और महाभारत उस दौर का टीवी शो है जब टीवी पर एक्टर्स को भगवान माना जाता था , जब उस समय रामायण आती थी तो लोग उन अभिनेताओं को सत्य में दई देवता का रूप मानते थे ।
कोरोना की बीमारी कि वजह से मनोरंजन इंडस्ट्री पर भी इसका भारी प्रभाव देखने को मिला , रिलीज होने वाली फिल्में रिलीज नहीं हुई और शूटिंग भी रुक गई ।

रामायण और महाभारत डीडी चैनल के उन शोज में से एक हैं जिन्होंने एक इतिहास रच दिया है एक समय पर टीवी पर केवल यही दो शोज चलते नजर आते थे और शोज के अभिनेत्री लेजेंड बन चुके है । जानकारी के लिए बता दें की रामायण 1987 में शूट की गई थी और महाभारत 1988 में , लेकिन दोनों में समानता की बात यह रही कि दोनों सोचने लोकप्रियता में आसमान की ऊंचाइयां छुईं ।

रामायण और महाभारत से 2020 में याद आई हिन्दू संस्कृति

माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी पुराने जमाने टीवी शोज को लगाने का एकमात्र उद्देश्य यही है कि लोग अपनी संस्कृति से एक बार फिर रूबरू हो और साथ ही साथ अपने बच्चों को भी महामारी के दौरान भारतीय संस्कृति का ध्यान दे सकें । जिसका फल जल्द ही देखने को मिला रामायण और महाभारत एक बार फिर उसी प्रकार प्रसिद्ध हो रही है जिस प्रकार शुरुआती दौर में हुई थी ।

लोग रामायण और महाभारत के सुबह और शाम दोनों शोज को देखने के लिए काफी इच्छुक नज़र आते है । प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस जैसी महामारी से बचने के इलाज के साथ-साथ आज के दौर को भारतीय संस्कृति भी याद दिला दी है। जो हमारे देश के लिए एक सही फैसला है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...