Homeछोटे से गांव से निकलकर लगन के साथ हासिल की यूपीएससी में...

छोटे से गांव से निकलकर लगन के साथ हासिल की यूपीएससी में सफलता, जानिए इनकी स्ट्रेटेजी

Array

Published on

आप कहां से आते हैं यह बात ज़रा भी मायने नहीं रखती है। यूपीएससी की परीक्षा पास करना हर किसी का सपना होता है। युवाओं का यह सपना थोड़ा मुश्किल होता है लेकिन नामुमकिन नहीं। यूपीएससी में यह कहना बहुत मुश्किल है कि आप कितने प्रयासों में यहां सफलता प्राप्त कर सकते हैं। कई लोगों की रणनीति कारगर होती और वह पहली प्रयास में आईएएस बन जाते हैं, जबकि कुछ लोगों को इसके लिए लंबा वक्त लगता है।

यूपीएससी में सफल कैंडिडेट्स की कहानियां अक्सर आपने सुनी होंगी। यह कहानियां नई ऊर्जा भर देती है। आपको आईएएस बनने वाले प्रदीप कुमार की कहानी बताएंगे, जिन्होंने दो बार यूपीएससी परीक्षा देने का प्लान बनाया था। लेकिन उनका सपना दो बार में पूरा नहीं हुआ। ऐसे में उन्हें तीसरा प्रयास करना पड़ा और इस बार उन्हें सफलता मिल गई।

छोटे से गांव से निकलकर लगन के साथ हासिल की यूपीएससी में सफलता, जानिए इनकी स्ट्रेटेजी

सफलता की कहानियां लोगों को जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिये सभी दम लगाकर मेहनत करते हैं।बिना मेहनत के इसमें कुछ हासिल नहीं होता है। प्रदीप बुंदेलखंड के गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता किसान और माता ग्रहणी हैं। उन्होंने बचपन से ही काफी संघर्ष किया और इंटरमीडिएट के बाद इंजीनियरिंग करने का फैसला किया।

छोटे से गांव से निकलकर लगन के साथ हासिल की यूपीएससी में सफलता, जानिए इनकी स्ट्रेटेजी

यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिये सभी दम लगाकर मेहनत करते हैं। यूपीएससी में बेहतर रणनीति बनाकर कड़ी मेहनत करनी होती है। उन्होंने भोपाल से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की, जिसके बाद उनकी मध्य प्रदेश विद्युत विभाग में सरकारी नौकरी लग गई। कुछ साल तक नौकरी करने के बाद उन्होंने यूपीएससी में आने का फैसला किया। उन्होंने फैसला किया था कि वह सिर्फ दो बार यूपीएससी की परीक्षा देंगे। अगर इसमें सफल नहीं हुए तो वापस नौकरी करेंगे। हालांकि उन्हें सफलता तीसरे प्रयास में मिली।

छोटे से गांव से निकलकर लगन के साथ हासिल की यूपीएससी में सफलता, जानिए इनकी स्ट्रेटेजी

यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा को पास करने वाले ही देश के नौकरशाह बन पाते हैं। हर युवा का यह सपना होता है। प्रदीप का मानना है कि यूपीएससी की तैयारी के लिए सबसे पहले आप यूपीएससी की वेबसाइट पर जाकर सिलेबस देखें। यहां आपको परीक्षा के पैटर्न के बारे में भी पूरी जानकारी मिल जाएगी। आप इन दोनों को अच्छी तरह अपने दिमाग में बैठा ले और इसके हिसाब से अपना स्टडी मैटेरियल तैयार कर कड़ी मेहनत शुरू कर दें।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...