HomeFaridabadफरीदाबाद में होती गोवंश की दुर्दशा पर क्या बोलना चाहेंगे आप?

फरीदाबाद में होती गोवंश की दुर्दशा पर क्या बोलना चाहेंगे आप?

Published on

फरीदाबाद : भारत देश और संस्कृति के अनुसार गाय को माता का दर्जा दिया गया है लेकिन फरीदाबाद में गोवंश की हालत दिन प्रतिदिन बद से बदतर होती जा रही है फरीदाबाद की सड़कों पर गोवंश कूड़ा कचरा खाते हुए नजर आता है । कहने को तो गौ सुरक्षा और गाय की देखभाल के लिए कई संगठन बने हुए हैं और कई सरकार की मुहिम भी चलती है लेकिन फिर भी गायों की दुर्दशा दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है ।

तस्वीरों में दिख रहा है नज़ारा फरीदाबाद बायपास रोड का है । जहां आप साफ साफ देख सकते है किस प्रकार गौवंश सड़कों पर बिखरा कूड़ा कचरा खाता है और इन्हीं कूड़े कचरे के सेवन की वजह से गोवंश की हालत दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है । एक तरफ हम किसी तीज त्योहार पर गोवंश को पूजा करते हैं और वहीं दूसरी तरफ गोवंश को कूड़ा कचरा खाता देख अनदेखा करते हैं।

फरीदाबाद में होती गोवंश की दुर्दशा पर क्या बोलना चाहेंगे आप?

मौजूदा समय में फरीदाबाद के बाईपास रोड पर सैकड़ों की तादाद में गोवंश की दुर्दशा होती नजर आ रही है लेकिन फिर भी गोवंश का बचाव और उनकी देखभाल का दावा करने वाले लोग चुप बैठे हैं।

सड़कों पर घूमते गांव मंच का फायदा उठाते हुए लोग गोवंश तस्करी भी कर देते क्योंकि लावारिस गोवंश की ओर किसी भी व्यक्ति का ध्यान नहीं जाता ऐसे में सवाल उठता है मौजूदा सरकार से जिसका यह दावा है कि उनके कार्यकाल के दौरान गोवंश के लिए कार्य किए जा रहे हैं।

फरीदाबाद में होती गोवंश की दुर्दशा पर क्या बोलना चाहेंगे आप?

फरीदाबाद में गौशालाओं की बात की जाए तो गौशाला अधिक संख्या में होने के बावजूद भी सड़कों पर दर-दर की ठोकरें खाता गोवंश दिख रहा है कहने को तो गोवंश में 33 करोड़ देवी देवताओं का वास होता है लेकिन * 30 करोड़ देवी देवताओं को केवल मतलब के लिए याद किया जाता है या तो इनसे व्यापार किया जाता है या फिर केवल जब पूजा करनी हो तभी बात किया जाए अब देखना यह है कि क्या गोवंश की होती दुर्दशा पर किसी का ध्यान जाएगा या फिर ऐसे ही केवल दिखावे के लिए गोवंश को भारत पूजा जाता है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...