HomeFaridabadरेल यात्रियों को मिला तोहफा, अब टिकट कैंसिल की जगह करवा सकते...

रेल यात्रियों को मिला तोहफा, अब टिकट कैंसिल की जगह करवा सकते हैं टिकट ट्रांसफर

Published on

भारतीय रेलवे ने यात्रियों को ऐसी सुविधा दी है जो यात्रियों के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है। इससे यात्री बेहद खुश है।

पहले यात्रियों को अपनी टिकट कैंसिल करवाने के लिए कुछ चार्जेस देने पड़ते थे। लेकिन अब से यात्रियों को टिकट कैंसिल करने की जरूरत नहीं है। आप वह टिकट किसी अन्य व्यक्ति को भी दे सकते हैं। यह सुविधा काफी दिनों से चलन में है लेकिन ज्यादातर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं थी।

रेल यात्रियों को मिला तोहफा, अब टिकट कैंसिल की जगह करवा सकते हैं टिकट ट्रांसफर

अगर आपने यात्रा के लिए रेलवे टिकट बुक किया था और किसी कारणवश आपको यह टिकट कैंसिल करवानी पड़ी तो आप या टिकट किसी भी अन्य व्यक्ति के नाम पर ट्रांसफर करवा सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको 24 घंटे पहले रेलवे को सूचना देनी होगी। भारतीय रेलवे की टिकट ट्रांसफर सुविधा का लाभ आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों टिकटों के लिए कर सकते है।

आपके निवेदन के बाद आपके नाम की जगह उस दूसरे व्यक्ति का नाम शामिल कर लिया जाएगा जिस व्यक्ति के नाम पर आपने टिकट ट्रांसफर की रिक्वेस्ट भेजी थी। फिलहाल यह सुविधा ऑनलाइन उपलब्ध है। लेकिन एक बार दूसरे यात्री के नाम पर टिकट ट्रांसफर किए जाने के बाद आप तीसरे के नाम पर ट्रांसफर करने का रिक्वेस्ट नहीं कर सकते हैं।

रेल यात्रियों को मिला तोहफा, अब टिकट कैंसिल की जगह करवा सकते हैं टिकट ट्रांसफर

आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से बुक की गई टिकट का हस्तांतरण करवा सकते हैं। जो व्यक्ति टिकट किसी अन्य के नाम पर ट्रांसफर करवाना चाहता है उसे नजदीकी रेलवे स्टेशन के बुकिंग काउंटर पर स्टेशन प्रबंधक/मुख्य आरक्षण पर्यवेक्षक से संपर्क करना होगा।

जिसके नाम पर टिकट ट्रांसफर किया जाना है उसके नाम का पहचान पत्र जैसे- पैन, आधार या वोटर आईडी कार्ड लेकर जाएं। टिकट काउंटर से नाम ट्रांसफर किए जाने का रिक्वेस्ट डालें।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...