HomePoliticsएक बार फिर गूंजेगा बच्चों का शोर, फरीदाबाद सहित पूरे हरियाणा में...

एक बार फिर गूंजेगा बच्चों का शोर, फरीदाबाद सहित पूरे हरियाणा में स्कूल-कॉलेज खोलने पर जोर

Published on

संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार से लेकर प्रदेश सरकार द्वारा भी स्कूल और कॉलेज यहां तक कि सभी इस तरह के शिक्षण संस्थानों को बंद करने का आदेश पारित करते हुए छात्रों को घर से ही ऑनलाइन क्लास के माध्यम से शिक्षा प्रदान करने की सलाह दी गई थी मगर समय बीतने के साथ अब सरकार जल्द ही स्कूल से लेकर कॉलेज को खोलने पर एक बार फिर मन बना रही है।

इस विषय पर विस्तार से जानकारी देते हुए मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने इस संबंध में तैयारी करने को कहा है। इसके साथ ही हरियाणा सरकार ने नई शिक्षा नीति के बारे में बड़ा फैसला किया है। नई शिक्षा नीति को देश में हरियाणा सबसे पहले लागू करेगा। हरियाणा में यह नीति पांच साल पहले लागू की जाएगी। देश में यह नीति 2030 में लागू होगी, लेकिन हरियाणा में इसे 2025 में लागू कर दिया जाएगा। राज्‍य के मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल की अध्‍यक्षता में हुई बैठक में इसको लेकर रोडमैप तैयार कर लिया गया।

एक बार फिर गूंजेगा बच्चों का शोर, फरीदाबाद सहित पूरे हरियाणा में स्कूल-कॉलेज खोलने पर जोर

बैठक के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि पूरे देश में नई शिक्षा नीति 2030 तक लागू होनी है, लेकिन सरकार की मंशा 5 साल पहले 2025 में ही लागू करने की है। नई शिक्षा नीति तीसरी क्लास से लेकर हायर एजुकेशन पर लागू होगी। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय और महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक में केजी से पीजी तक की शिक्षा शुरू होगी

हरियाणा में संक्रमण कम होने के बाद अब स्कूल-कालेजों को खोलने की तैयारी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बैठक में निर्देश दिए कि दूसरी लहर में बंद हुए स्कूल-कालेजों को जल्द खोलने की योजना बनाई जाए। कोविड-19 प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन करते हुए शिक्षण संस्थानों में पर्याप्त व्यवस्था की जानी चाहिए।

एक बार फिर गूंजेगा बच्चों का शोर, फरीदाबाद सहित पूरे हरियाणा में स्कूल-कॉलेज खोलने पर जोर

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्कूल छोड़ने वाले बच्चों का सौ फीसद दाखिला सुनिश्चित किया जाए। इसके लिए ड्राप आउट बच्चों का रियल टाइम डाटा तैयार किया जाए ताकि उन्हें दाखिला दिलाया जा सके। प्रत्येक जिले में विदेशी भाषा सिखाने वाले एक स्कूल को खोलने की संभावना तलाशी जाए। समय के अनुसार व मांग के अनुरूप इन स्कूलों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए। इन स्कूलों में आवासीय सुविधा भी हो। इन स्कूलों के लिए क्लस्टर प्लान बनाया जाए।

एक बार फिर गूंजेगा बच्चों का शोर, फरीदाबाद सहित पूरे हरियाणा में स्कूल-कॉलेज खोलने पर जोर

मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने राज्‍य के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर और शिक्षा अधिकारियों के साथ नई शिक्षा नीति लागू करने को लेकर मंथन किया। बैठक में प्राइमरी एजुकेशन, हायर एजुकेशन, सेकेंडरी एजुकेशन और टेक्निकल एजुकेशन से जुड़े अधिकारियों ने शिरकत की।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...