HomePoliticsहरियाणा की ओपन शेल्टर होम से फरार बच्चों को पुलिस ने रेलवे...

हरियाणा की ओपन शेल्टर होम से फरार बच्चों को पुलिस ने रेलवे स्टेशन स्टेशन से किया बरामद

Published on

हद से ज्यादा कहते हैं कुछ भी अच्छा नहीं होता चाहे वह शातिर दिमाग हो या फिर चालाक चतुर वाले काम। ज्यादा दिमाग इस्तेमाल करना भी कई बार हानिकारक साबित हो जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ हरियाणा के रेवाड़ी जिले के अंतर्गत आने वाले बावल स्थित ओपन शेल्टर होम के बच्चों के साथ। दोनों ने प्लान तो खूब बेहतर बनाया लेकिन कहते हैं ना कि गलत करने वाला शख्स भी कोई ना कोई गलती कर ही बैठता है।

दरअसल, बावल ओपन शेल्टर होम के परियोजना समन्यवक अशोक कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश के कानपुर निवासी सजल (13) 1 जुलाई व पंजाब निवासी साहिल (13) 4 जुलाई को रेवाड़ी में लावारिस हालत में घूमते मिले थे। पुलिस ने उन्हें बरामद करके बावल के ओपन शेल्टर होम में भेजा था। 9 जुलाई को दोनों ने शेल्टर होम की दीवार फांदने का प्लान तैयार करके कुछ ईंटें दीवार के साथ खड़ी कर दीं।

हरियाणा की ओपन शेल्टर होम से फरार बच्चों को पुलिस ने रेलवे स्टेशन स्टेशन से किया बरामद

दोनो ने मिलकर दीवार ऊंची होने के कारण पहले दोनों ने ईंटें लगाई और फिर 5 फीट ऊंची दीवार फांदी। बच्चों के गायब होने के बाद ओपन शेल्टर होम में हड़कंप मच गया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। जानकारी मिलते ही बच्चों को तलाशते हुए बावल पुलिस रेवाड़ी जंक्शन पर पहुंची और यहां से दोनों बच्चे बरामद कर लिए।

हरियाणा की ओपन शेल्टर होम से फरार बच्चों को पुलिस ने रेलवे स्टेशन स्टेशन से किया बरामद

दोनों ही बच्चों को यह बात भी पता थी कि दीवार ऊंची होने के कारण वह उसे आसानी से लांग यशपाल नहीं पाएंगे इसलिए उन्होंने ईटों के सहारे दोनों ने प्लान बना कर दीवार को ऊंचा कर, फिर उसके बाद
ईंटों के सहारे दोनों ने दीवार फांदी और फिर किसी वाहन में बैठकर रेवाड़ी पहुंच गए। ओपन शेल्टर होम के कर्मचारियों को जब उनके गायब होने का पता चला तो उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने शाम के समय दोनों को रेवाड़ी जंक्शन से बरामद कर लिया है और वापस शेल्टर होम में भेज दिया।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...