HomeUncategorizedओलंपिक 2021 में पंजाब हरियाणा के खिलाड़ियों का दिखेगा सबसे अधिक जलवा,...

ओलंपिक 2021 में पंजाब हरियाणा के खिलाड़ियों का दिखेगा सबसे अधिक जलवा, जाने कैसे ?

Published on

दुनिया के सबसे बड़े खेल महोत्सव के ऊपर पूरी दुनिया की नजरें लगी हुई है दुनियाभर के देश इस खेल महोत्सव के लिए बेसब्री से इंतजार करते हैं और खिलाड़ियों को इसमें अपना हुनर दिखाने का एवं अपने देश का नाम मशहूर करने का मौका भी मिलता है खेलों के महाकुंभ ओलिंपिक के लिए भारत ने अपना अब तक का सबसे बड़ा दल तो में भेजा है।

भारत की ओर टोक्यो ओलिंपिक 2020 में 127 एथलीट हिस्सा लेंगे। 23 जुलाई से 8 अगस्त तक चलने वाले इस ओलिंपिक में भारत को शूटिंग, रेसलिंग, वेटलिफ्टिंग और बैडमिंटन आदि में पदक की उम्मीद है। भारतीय खिलाड़ी किए मौका हासिल कर लेते हैं तो भारत का नाम पूरे विश्व में प्रसिद्ध हो जाएगा।

ओलंपिक 2021 में पंजाब हरियाणा के खिलाड़ियों का दिखेगा सबसे अधिक जलवा, जाने कैसे ?

पिछले कुछ ओलिंपिक की तरह इस बार भी इस ‘महाकुंभ’ में हरियाणा और पंजाब के एथलीटों की संख्या सबसे ज्यादा है। इन दोनों राज्यों की भारत की कुल जनसंख्या में भागीदारी 4.4 प्रतिशत है। बावजूद इसके हरिणा और पंजाब से कुल 50 एथलीट इस बार तोक्यो में अपनी किस्मत आजमाते हुए नजर आएंगे। इनमें हरियाणा के 31 और पंजाब के 19 खिलाड़ी शामिल हैं। इसीलिए इस बार उम्मीद जताई जा रही है कि भारत के खिलाड़ी ओलंपिक के ज्यादा से ज्यादा मेडल जीतकर लाएंगे ।

ओलंपिक 2021 में पंजाब हरियाणा के खिलाड़ियों का दिखेगा सबसे अधिक जलवा, जाने कैसे ?

कुल मिलाकर भारतीय दल में 40 प्रतिशत भागीदारी हरियाणा और पंजाब के एथलीटों की है। हरियाणा पंजाब के बाद तोक्यो ओलिंपिक दल में जिन राज्यों के एथलीटों की सबसे ज्यादा भागीदारी है उनमें तमिलनाडु है। इसके बाद केरल और उत्तर प्रदेश का नंबर आता है।

पुरुष हॉकी टीम में हरियाणा के हैं 9 खिलाड़ी

ओलंपिक 2021 में पंजाब हरियाणा के खिलाड़ियों का दिखेगा सबसे अधिक जलवा, जाने कैसे ?
File image

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के 19 सदस्यों में से 9 हरियाणा के हैं। हरियाणा के 7 पहलवान इस बार तोक्यो में ठोकेंगे ताल। इनमें 4 महिला और 3 पुरुष पहलवान हैं। हरियाणा के चार बॉक्सर्स (3 पुरुष और एक महिला) भी पंच लगाते हुए नजर आएंगे। इसके अलावा चार शूटर्स भी शामिल हैं जिसमें 2 महिला और और 2 पुरुष हैं।

अब देखना यह है कि भारतीय खिलाड़ी दूसरे देशों के खिलाड़ियों के सामने अपना हुनर किस तरह सभी खाते हैं और किस तरह से विजय हासिल कर भारत की आन बान और शान को बचाते हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...