HomeTrendingऑनलाइन क्लास से परेशान हुई 6 वर्ष की बच्ची, वीडियो शेयर कर...

ऑनलाइन क्लास से परेशान हुई 6 वर्ष की बच्ची, वीडियो शेयर कर पीएम मोदी से मांगी मदद

Published on

इस कोरोना से हर कोई परेशान है। क्या बड़े, क्या बूढ़े, क्या बच्चे और क्या जवान। मानो ऐसा लग रहा है कि हम आज़ाद हैं ही नहीं। हमें किसी ने गुलाम बना लिया है, गुलाम कोरोना ने बनाया है हम सभी को। कोरोना महामारी ने सबसे ज्यादा बच्चों के भविष्य को बर्बाद किया है।

लगातार दूसरे साल स्कूल से दूर रहने के कारण बच्चों का भविष्य पर असर पड़ रहा है। शिक्षाविद की माने तो आने वाले समय में बच्चों के साथ अभिभावकों को भी गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। जानकार बताते हैं कि अभी शिक्षण संस्थान खुलने में चार से पांच माह भी लग सकता है।

ऑनलाइन क्लास से परेशान हुई 6 वर्ष की बच्ची, वीडियो शेयर कर पीएम मोदी से मांगी मदद

इसकी बड़ी वजह सरकार द्वारा तीसरी लहर की आशंका को व्यक्त करना है। ऐसे में सरकार भी स्कूल खोलने का तत्काल रिस्क नहीं ले सकता है। अब समस्या इस बात की है कि इस लॉकडाउन में बच्चों के भविष्य को कैसे संवारा जाए।

दूसरी ओर सरकार ने वर्ग एक से आठ तक के सभी बच्चों को प्रमोट कर दिया है, लेकिन अगली कक्षा की तैयारी बच्चे कैसे करेंगे। सरकार ने अभी तक न तो ध्यान दिया है और न ही इसके लिए कोई गाइडलाइन जारी किया है। इतना ही नहीं इस बार किताब के लिए सरकार ने राशि भी जारी नहीं की है। इस कारण छात्र किताब भी नहीं खरीद पा रहे हैं।

ऑनलाइन क्लास से परेशान हुई 6 वर्ष की बच्ची, वीडियो शेयर कर पीएम मोदी से मांगी मदद

दहशत में हैं बच्चे व अभिभावक पिछले लॉकडाउन के बाद सरकार ने पूरे तामझाम के साथ नामांकन अभियान शुरू किया था। प्रवेशोत्सव नाम से शुरू अभियान का असर मधेपुरा में बेहतर रहा। पूरे बिहार में मधेपुरा में सबसे ज्यादा नामांकन हुआ।

वर्तमान समय में सरकारी आंकड़े के अनुसार 1543 स्कूलों में 4.10 लाख बच्चे वर्ग एक से लेकर आठ तक में नामांकित हैं। वहीं सीनियर कक्षा के लिए भी नामांकन का प्रतिशत का शानदार रहा, लेकिन मार्च के बाद फिर से शुरू हुए कोरोना महामारी ने सभी तैयारी पर पानी फेर दिया है।

ऑनलाइन क्लास से परेशान हुई 6 वर्ष की बच्ची, वीडियो शेयर कर पीएम मोदी से मांगी मदद

शिक्षाविद पंकज कुमार बताते हैं कि इस बार के महामारी ने तो सरकार व आम लोगों को इतना डरा दिया है कि अब स्कूल खुलने के बाद भी अभिभावक बच्चों को स्कूल भेजने से पहले कई दफा सोचेंगे। अब ऐसे में कोरोना की वजह से स्कूल और कॉलेज बंद हैं और पढ़ाई ऑनलाइन चल रही है। जिसकी शिकायत करते हुए एक 6 साल की मासूम बच्ची ने पीएम मोदी को अपना संदेश भेजा है।

ऑनलाइन क्लास से परेशान बच्ची ने पीएम मोदी से पूछा कि छोटे बच्चों को इतना काम क्यों देते हैं। अब आप ख़ुद अंदाज़ा लगाइए कि इस कोरोना की वजह से बच्चों के दिमाग पर भी किस तरह का असर पड़ रहा है।

ऑनलाइन क्लास से परेशान हुई 6 वर्ष की बच्ची, वीडियो शेयर कर पीएम मोदी से मांगी मदद

जो बच्चे आज़ाद रहते थे, स्कूल की कूल पढ़ाई के बाद घर आकर होमवर्क कर अपने लिए समय निकालते थे, अब वो लगातार हर की ऑनलाइन क्लास पर फस जाते हैं और फिर उसके काम पर, कोई स्वतंत्रता बच्चों को महसूस भी नहीं होती और दिमाग पर जो गलत असर पड़ता है वो अलग ही है।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...