Homeलॉकअप में बंद है 'दो मुर्गे', इनका अपराध जानकर छूट जाएगी हंसी...

लॉकअप में बंद है ‘दो मुर्गे’, इनका अपराध जानकर छूट जाएगी हंसी और हो जाएंगे हैरान

Array

Published on

दुनियाभर में बहुत कुछ अजब – गजब होता है। कभी – कभी कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिनपर यकीन करना बहुत ही कठिन हो जाता है। क्या आपने कभी कोई ऐसी खबर सुनी है जिसमें किसी पक्षी को उसके किसी जुर्म के लिए लॉकअप में बंद किया गया हो? जनाब, अगर नहीं सुनी तो सुन लीजिए। तेलंगाना के मुदिगोंडा जिले में दो मुर्गों को पुलिस स्टेशन में लॉकअप में बंद किया गया है।

इस खबर पर यकीन काफी कम लोगों को हो रहा है लेकिन सच्चाई यही है कि यहां मुर्गे बंधी हैं। कुछ महीने पहले आये संक्रांति त्योहार से कुछ दिन पहले मुदिगोंडा के सब-इंस्पेक्टर टी नरेश ने मुदिगोंडा मंडल के एपी बॉर्डर्स पर स्थित बानापुरम गांव में कुछ युवाओं द्वारा मुर्गों की लड़ाई के आयोजन की खबर मिलने पर छापेमारी की थी।

लॉकअप में बंद है 'दो मुर्गे', इनका अपराध जानकर छूट जाएगी हंसी और हो जाएंगे हैरान

कर्म किसी और का लेकिन सजा किसी दूसरे को मिली। बेचारे मुर्गों का क्या ही कसूर था। उस वक्त पुलिस ने 0 युवाओं सहित दो मुर्गों को भी हिरासत में लिया था। इस घटना में सबसे चौंकाने वाला मामला यह रहा कि पुलिस ने हिरासत में लिए गए सभी युवाओं को बेल पर छोड़ दिया, लेकिन बेचार इन दो बेजुबान मुर्गों को बिना किसी जुर्म के अभी भी लॉकअप में डाल दिया था।

लॉकअप में बंद है 'दो मुर्गे', इनका अपराध जानकर छूट जाएगी हंसी और हो जाएंगे हैरान

बेचारे बेजुबान मुर्गों को खामखा ही सजा मिल गयी अब वह कैसे सरकारी दफ्तर में जा सकेंगें। बहरहाल, जब पुलिस से इस बारे में पूछा गया तो पुलिस ने कहा कि इन दो मुर्गों को इस मामले में सबूत के तौर पर कोर्ट में पेश किया जाना है और कोर्ट में सुनवाई के बाद ही उनकी बहाली संभव हो पायेगी। पुलिस ने कहा कि रिहाई के समय मुर्गों की बोली लगाई जाएगी और सबसे ऊंची बोली लगाने वाले को इन्हें सौंप दिया जाएगा।

लॉकअप में बंद है 'दो मुर्गे', इनका अपराध जानकर छूट जाएगी हंसी और हो जाएंगे हैरान

कुछ बातें लीक से हटकर होती हैं जिन्हें सुनकर काफी अजीब सा लगता है। दोनों मुर्गों ने लॉकअप में मजे किये और आराम से दाना चुगा। पुलिस स्टेशन में आने-जाने वालों के लिए दोनों मुर्गे आकर्षण का केंद्र बन गए थे।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...