HomeFaridabadसंसाधनों के अभाव में काम करने को मजबूर है निगम कर्मचारी, इस...

संसाधनों के अभाव में काम करने को मजबूर है निगम कर्मचारी, इस अनोखे तरीके से किया काम

Published on

नगर निगम मुख्यालय में टैक्सेशन ब्रांच के कर्मचारियों ने बुधवार को 2 घंटे तक काम बंद रखा। कर्मचारियों का आरोप है कि जोन थर्ड ऑफिस में कर्मचारियों के बैठने के लिए कुर्सियां तक नहीं है ऐसे में कर्मचारियों को खड़े होकर काम करना पड़ता है।

इसके अलावा पंखे भी खराब है, की बारिश के बाद छतों से पानी टपकता है इन सभी समस्याओं को लेकर कई बार कर्मचारियों ने निगम कमिश्नर से शिकायत भी की है लेकिन अभी तक इसका समाधान नहीं हो पाया है। कर्मचारियों के विरोध जताने के बाद एडिशनल कमिश्नर वैशाली शर्मा मौके पर पहुंची तथा जल्द से जल्द समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया।

संसाधनों के अभाव में काम करने को मजबूर है निगम कर्मचारी, इस अनोखे तरीके से किया काम

दरअसल, एनआईटी स्थित नगर निगम मुख्यालय काफी पुराना है। यहां बिल्डिंगों की हालत भी बेहद खराब है ऐसे में टैक्सेशन ब्रांच जोन थर्ड में कार्य करने वाले 20 से 25 कर्मचारियों ने बुधवार को अचानक काम बंद कर दिया।

कर्मचारियों ने बताया कि ऑफिस में बैठने के लिए कुर्सी तक नहीं है वही रिकॉर्ड या फाइलों को रखने के लिए अलमारी भी नहीं खरीदी गई है ऐसे में यदि कोई फाइल खो जाए तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा।

संसाधनों के अभाव में काम करने को मजबूर है निगम कर्मचारी, इस अनोखे तरीके से किया काम

इसके अलावा दफ्तर के अंदर पंखे भी खराब पड़े हैं। पीने के पानी की व्यवस्था भी नहीं की गई है। हाल ही में इसी दफ्तर के एक कमरे में आग लग गई थी बावजूद इसके कर्मचारी यहां काम कर रहे हैं। बुधवार को सभी कर्मचारियों ने काम बंद कर दफ्तर के बाहर दरी बिछाकर काम किया।

दो घंटे तक धरना देने के बाद एडिशनल कमिश्नर वैशाली शर्मा मौके पर पहुंची और उन्होंने कर्मचारियों को आश्वासन दिया कि 1 हफ्ते में सभी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...