Homeदुल्हन से बात मत करना, शादी में आने वाले मेहमानों के लिए...

दुल्हन से बात मत करना, शादी में आने वाले मेहमानों के लिए रखी गईं ऐसी शर्तें, जिन्हें पढ़कर चिढ़ गए लोग

Published on

किसी की शादी का न्यौता आपके घर भी आया होगा। शादी धूम – धाम से की जाती है। आपने भी कई लोगों को अपने घर में होने वाली शादिओं में बुलाया होगा। लेकिन अगर आपको शादी का कोई कार्ड मिले और उसमें शर्त लिखी हो कि फंक्शन में आएं, लेकिन दुल्हन से बात न करें। ये शर्त पढ़कर एक बार आप चौकेंगे जरूर। कुछ ऐसा ही कार्ड या कहें शादी के नियमों की एक लिस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

दुनिया में बहुत से अजीबो गरीब मामले सामने आते हैं यह भी उन्हीं में एक है। इस लिस्ट में उन शर्तों का जिक्र है, जिनका पालन शादी में आने वाले मेहमानों को करना होगा।

दुल्हन से बात मत करना, शादी में आने वाले मेहमानों के लिए रखी गईं ऐसी शर्तें, जिन्हें पढ़कर चिढ़ गए लोग

आप किसी शादी में इसलिए जाते हैं क्योंकि आपको बुलाया गया होता है। आपकी एक रिस्पेक्ट होती है। लेकिन एक वेडिंग प्लानर ने शादी में आने के लिए मेहमानों को एक ईमेल भेजा। मेल के जरिए उन्होंने शादी के कुछ नियमों को बताया। वेडिंग प्लानर के ईमेल में लिखा है, गुड मॉर्निंग। मैं सभी मेहमानों की गिनती करने और शादी के दिन के कुछ नियमों को बता रहा हूं।

दुल्हन से बात मत करना, शादी में आने वाले मेहमानों के लिए रखी गईं ऐसी शर्तें, जिन्हें पढ़कर चिढ़ गए लोग

इस तरह से नियमों के भेजने से हो सकता है कि आपकी गरिमा पर नुक्सान पहुंचे। परंतु वेडिंग प्लानर ने मेल में पूछा है की क्या आप प्लस वन के साथ शादी में शामिल होने वाले हैं ? इसके बाद शादी में शामिल होने के कुछ नियम बताए गए।

नियम कुछ इस प्रकार हैं –

1- शादी में 15 – 30 मिनट पहले पहुंचें।
2- कृपया सफेद या क्रीम कलर के कपड़े न पहनें।
3- कृपया पूरे चेहरे पर मेकअप न करें।
4 – निर्देश दिए जाने तक फेसबुक पर चेक इन न करें।
5 – दुल्हन से बिल्कुल बात न करें।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...