HomeIAS INTERVIEW में पूछा गया सवाल, आठ लोगों को दीवार बनाने में...

IAS INTERVIEW में पूछा गया सवाल, आठ लोगों को दीवार बनाने में 10 घंटे लगे, चार लोगों को बनाने में कितने दिन लगेंगे?

Published on

यूपीएससी की परीक्षा दे कर ही देश का नौकरशाह बना जा सकता है। कई लोगों का यह सपना होता है। किसी भी परीक्षा को क्लियर करना हमेशा से एक चुनौती होती है। अगर परीक्षा यूपीएससी की हो तो यह बहुत बड़ी चुनौती बन जाती है। सिविल सर्विस के साक्षात्कार हमेशा ही कठिन होते हैं। किसी के लिए तो इतने कठिन हो जाते हैं कि दिमाग ही चलना बंद हो जाता है। आपने बहुत से साक्षात्कार हो सकता है दिए हों।

लगभग सभी नौकरियों में सिलेक्शन इंटरव्यू के बाद ही होता है। सालों कड़ी मेहनत इसे क्लियर करने के लिए लोग करते हैं क्योंकि आसानी से यूपीएससी का इंटरव्यू क्लियर नहीं होता है। यूपीएससी की परीक्षा काफी कठिन होती है। लाखों कैंडिडेट्स हर साल इस परीक्षा में भाग लेते हैं। यह परीक्षा हर कोई देना चाहता है। इस परीक्षा को पास करके सभी देश के नौकरशाह बनना चाहते हैं।

IAS INTERVIEW में पूछा गया सवाल, आठ लोगों को दीवार बनाने में 10 घंटे लगे, चार लोगों को बनाने में कितने दिन लगेंगे?

किस्मत का साथ भी इसमें काफी मायने रखता है। एड़ी – चोटी का ज़ोर लगाकर भी कई लोग इस साक्षात्कार को पार नहीं कर पाते हैं। कैंडिडेट्स सालों साल इस परीक्षा को पास करने के लिए मेहनत करते हैं। कई कैंडिडेट्स परीक्षा में धमाल मचा देते हैं लेकिन इंटरव्यू में वह पीछे रह जाते हैं। जो साक्षात्कार राउंड आता है इसमें पूछे जाने वाले सवाल सभी का दिमाग घुमा देते हैं।

IAS INTERVIEW में पूछा गया सवाल, आठ लोगों को दीवार बनाने में 10 घंटे लगे, चार लोगों को बनाने में कितने दिन लगेंगे?

एक ऐसा ही कठिन और ट्रिकी सवाल इस इंटरव्यू में पूछा गया कि ‘आठ लोगों को दीवार बनाने में 10 घंटे लगे, चार लोगों को बनाने में कितने दिन लगेंगे?’ हम इस सवाल का जवाब आपको निचे वाले पैराग्राफ में देंगे। आप जब तक अपने दिमाग के घोड़ों को काम पर लगा दीजिये। हो सकता है इसका जवाब आपको पता हो।

IAS INTERVIEW में पूछा गया सवाल, आठ लोगों को दीवार बनाने में 10 घंटे लगे, चार लोगों को बनाने में कितने दिन लगेंगे?

तो चलिए ज़्यादा समय न ज़ाया करते हुए आपको बताते हैं कि इसका जवाब क्या है। तो इस सवाल जवाब है ‘दीवार पहले से ही आठ लोगों द्वारा बनाई गई है, इसलिए अब इसे बनाने की आवश्यकता नहीं है’ हो सकता है आप पहले से ही इसका जवाब जानते हों।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...