HomeGovernmentधर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी...

धर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी शॉपिंग पर, सर्वांगीण विकास पर दिया जोर

Published on

कैदियों के जीवन स्तर में सुधार के लिए हरियाणा सरकार जेल को सुधार केंद्रों के रूप में तब्दील करेगी। इसकी रिपोर्ट बनाने के लिए हाई पावर कमेटी का गठन किया गया है। साथ जेलों का नाम बदलने पर भी विचार किया जा रहा है।

प्रदेश सरकार ने हरियाणा के कैदियों के जीवन स्तर में सुधार के लिए भजन मंडली, साहित्यकारों और कवियों का सहारा लेगी साथ ही धर्म गुरुओं की भी मदद ली जाएगी। इसके साथ ही महिला कैदियों को जेल से बाहर निकलकर खरीदारी करने की भी इजाजत दी जाएगी। इसके अलावा प्रदेश सरकार कैदियों से ऐसी मिठाई तैयार करवाना चाहते हैं जो प्रदेश में एक ब्रांड के रूप में उभरकर सामने आए। जेल में गैंगस्टर और खूंखार अपराधियों को सामान्य कैदियों से अलग रखा जाएगा।

धर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी शॉपिंग पर, सर्वांगीण विकास पर दिया जोर

उच्च स्तरीय कमेटी का किया गठन

प्रदेश सरकार ने जेलों में सुधार की सिफारिश करने के लिए चार अधिकारियों की एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया है। गृह सचिव राजीव अरोड़ा इस कमेटी के अध्यक्ष हैं। कमेटी में डीजीपी जेल शत्रुजीत कपूर, आईजी जगजीत सिंह और एलआर (कानूनी प्रतिनिधि) शामिल हैं। ऑस्ट्रेलिया की जेलों को दुनिया में सबसे ज्यादा अच्छा माना जाता है। भारत में महाराष्ट्र, कर्नाटक और तमिलनाडु की जेलों में भी तमाम सुविधाएं मौजूद हैं। हरियाणा सरकार ने जेल विभाग के अधिकारियों को इन जेलों का दौरा करने को कहा है। ताकि प्रदेश की जेलों में भी इसी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध हों।

धर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी शॉपिंग पर, सर्वांगीण विकास पर दिया जोर

जेल का नाम बदलने पर भी हो रहा विचार

गृह सचिव के नेतृत्व वाली कमेटी सरकार को कम से कम 15 बिंदुओ पर अपनी रिपोर्ट देगी। बिजली व जेल मंत्री रणजीत चौटाला के सामने यह कमेटी कई अहम बिंदुओ पर अपनी बात कह चुकी है। जेल विभाग का नाम बदलकर सुधार गृह रखने पर गंभीरता से इस पर विचार किया जा रहा है। जेल सुधार कमेटी की लिखित रिपोर्ट आने के बाद जेल मंत्री रणजीत चौटाला इसे मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सामने पेश करेंगे। वहां से मंजूरी मिलने के बाद सुधारात्मक बिंदु लागू कर दिए जाएंगे।

सभी जेलों में एक जैसी डाइट मेन्यू

धर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी शॉपिंग पर, सर्वांगीण विकास पर दिया जोर

मोटे तौर पर हरियाणा सरकार सभी जिलों में एक समान डाइट मेनू लागू करने पर विचार कर रही है। इससे हर जेल में कैदियों को एक जैसा खाना दिया जाएगा। जेल अधीक्षकों व कर्मचारियों की मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए सेशन जज नियमित रूप से जेलों का दौरा करेंगे। ढांचागत सुधारों की कड़ी में बिजली, पंखे, शौचालय, नल और फर्श यदि खराब हैं तो उन्हें ठीक कराया जायेगा। सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों की जेलों में नियमित आवाजाही शुरू होगी, ताकि कैदियों को सुधारने का एक मौका मिल सके।

भजन और काव्य पाठ की होगी शुरुआत

धर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी शॉपिंग पर, सर्वांगीण विकास पर दिया जोर

गैंगस्टर और खूंखार कैदियों को सामान्य कैदियों से अलग रखा जाएगा। भजन मंडलियों के माध्यम से जेलों में नियमित भजन होंगे। इससे कैदी अध्यात्म से जुड़ेंगे। कुमार विश्वास और डॉ. हरिओम पंवार जैसे कवियों को जेलों में काव्य पाठ के लिए भेजा जाएगा। स्वामी अवधेशानंद और स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज जैसे संतों को आध्यात्मिक संदेश के लिए कैदियों के बीच भेजने की योजना पर गंभीरता से आगे बढ़ा जा रहा है।

महिला कैदियों को मिलेगी बाजार जाने की अनुमति

धर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी शॉपिंग पर, सर्वांगीण विकास पर दिया जोर

महिला कैदियों की अपनी निजी जरूरतें होती हैं। जेल में रहते–रहते महिलाएं मानसिक रूप से बीमार हो सकती हैं। इसलिए उन्हें सुरक्षाकर्मियों के साथ बाजार जाने और अपनी पसंद का सामान खरीदने की अनुमति दी जाएगी। साथ में जेल के कैदियों से मिठाई भी बनवाई जाएगी जो एक ब्रांड के रूप में विकसित हो। इसकी सप्लाई जेल के बाहर अथवा अन्य स्टोर पर बिक्री के लिए उपलब्ध कराई जाएगी।

धर्मगुरु देंगे कैदियों को अध्यात्म की शिक्षा, अब से महिला कैदी जाएंगी शॉपिंग पर, सर्वांगीण विकास पर दिया जोर

कैदियों के सर्वांगीण विकास पर जोर

जेल मंत्री रणजीत चौटाला ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल चाहते हैं कि जेलों में सुधार हो। कैदियों की मानसिक स्थिति में बदलाव आए। इसके लिए एक रिपोर्ट तैयार करने को हमने हाई पावर कमेटी बनाई है। हम गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत के संपर्क में भी हैं। उन्होंने जेलों की खाली जमीन पर प्राकृतिक खेती का फार्मूला दिया है। कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद उसे लागू करने के लिए मुख्यमंत्री के पास भेजा जाएगा। हम चाहते हैं कि जेलों में कैदियों का सर्वांगीण विकास हो सके।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...