HomeGovernmentथर्ड वेब की आशंका ने लगाई अफसरों की लंका, भीड़ पर अंकुश...

थर्ड वेब की आशंका ने लगाई अफसरों की लंका, भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए मंत्री अनिल विज का नोटिस

Published on

भले ही अब संक्रमण से होने वाले खतरे का डर फिलहाल कम होता हुआ दिखाई दे रहा है लेकिन वैज्ञानिकों के अनुसार आने वाले समय में संकरण के तीसरे वैभव तबाही का मंजर पैदा कर सकती है इसलिए पहले ही इसकी तैयारी करते हुए और इससे होने वाली भयावह स्थिति को भागते हुए हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रदेश के सभी डीसी, एसपी और सीएमओ के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक की। इस मौके पर उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि टेस्टिंग बढ़ाई जाए, साथ ही होटल, रेस्तरां, मॉल और शादियों में भीड़ जमा न होने दें।

वही इसके अलावा पांच स्तरीय रणनीति यानी टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीकाकरण और उपयुक्त व्यवहार का पालन करने पर जोर दे रही है। शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सभी जिलों को टीकाकरण की गति तेज करनी चाहिए।

थर्ड वेब की आशंका ने लगाई अफसरों की लंका, भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए मंत्री अनिल विज का नोटिस

विस्तार से जानकारी देते हुए एसीएस राजीव अरोड़ा ने बताया कि राज्य में वयस्क, बाल चिकित्सा और नवजात सहित 659 वेंटिलेटर, 808 आईसीयू बेड, 681 एनआईसीयू बेड उपलब्ध हैं। जिलों में प्रेशर स्विंग एर्क्जोशन (पीएसए) ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि फिलहाल तो वैसे लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन टैंक करनाल, कुरुक्षेत्र, पंचकूला, हिसार, जींद और रेवाड़ी में मौजूद हैं। इसके अलावा, वर्ष 2020-21 में सभी जिला अस्पतालों में गैस मैनिफोल्ड और मेडिकल ऑक्सीजन पाइपलाइन स्थापित की गई थी। गैस मैनिफोल्ड एवं ऑक्सीजन पाइपलाइनों की सुविधा को सीएचसी स्तर तक बढ़ाया जा रहा है।

थर्ड वेब की आशंका ने लगाई अफसरों की लंका, भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए मंत्री अनिल विज का नोटिस

कोविड बाल चिकित्सा मामलों के संबंध की तैयारियों पर एसीएस अरोड़ा ने बताया कि अनुमान है कि अधिकांश बच्चे 70-80 प्रतिशत एसिमटोमैटिक होंगे और उन्हें घर में आइसोलेशन की आवश्यकता होगी। 15 प्रतिशत माइल्ड, 5 प्रतिशत मॉडरेट और गंभीर मामले होंगे, जिन्हें कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन सहायता और आईसीयू देखभाल की जरूरत होगी।

दवाएं और चिकित्सा उपकरण जैसे इंजेक्शन एम्फोटेरिसिन बी, इंजेक्शन रेमेडिसविर, इंजेक्शन टोसीलिज़ुमैब, पीपीई किट, एन-95 मास्क, ट्रिपल लेयर मास्क, हैंड सैनिटाइज़र, आरटीपीसीआर परीक्षण किट पैरासिटामोल टैबलेट और ऑक्सीजन कन्संट्रेटर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।

थर्ड वेब की आशंका ने लगाई अफसरों की लंका, भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए मंत्री अनिल विज का नोटिस

गौरतलब, इस बात से पूरा देश परिचित है कि किस तरह संक्रमण ने पहली और दूसरी वेब के दौरान अपने पांव पसार कर लोग अपनी आवोहवा का शिकार बनाकर आमजन को मौत के मुंह में धकेल दिया था। यही कारण है कि लोग अभी भी संक्रमण से बचने के लिए फेस मास्क और हैंड सैनिटाइजर जैसे उपायों को अपनाते हुए दिखाई देते हैं।

मगर इसके तीसरी वेब के दौरान यह बच्चों पर भी हावी हो सकता है। जिसके बारे में वैज्ञानिक और डबल्यू एच ओ पहले ही चेता चुकी है। यही कारण है कि जगह-जगह इसकी तीसरी वेब के दस्तक से पहले ही सरकार अपनी कमर कस रही है ताकि संक्रमण का सामना डट कर किया जा सके।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...