Home29 साल से ओलंपिक मेडल के लिए तरस रहा पाकिस्तान, मेडल की...

29 साल से ओलंपिक मेडल के लिए तरस रहा पाकिस्तान, मेडल की कीमत क्या होती है कोई इनसे ही पूछो

Array

Published on

पूरी दुनिया की निगाहें इस समय जापान के टोक्यो शहर पर हैं। यहां खेलों का महाकुंभ कहे जाने वाले ओलंपिक जो हो रहे हैं। भारतीय खिलाड़ियों ने टोक्‍यो ओलंपिक में कमाल कर दिया है। इस ओलंपिक में भारत के खाते में दो सिल्‍वर 4 ब्रोंज और 1 गोल्ड मेडल सहित कुल 7 मेडल आ गए हैं। इस बार हॉकी में भी भारत ने कमाल किया और पुरुष टीम ने ब्रॉन्‍ज मेडल झोली में डाला।

भारत के खिलाडियों ने कमाल कर दिखाया है। बजरंग पूनिया और नीरज चोपड़ा ने देश का मान बढ़ाया है। बजरंग ने ब्रोंज, वहीं नीरज चोपड़ा ने भारत की झोली में गोल्ड मेडल डाला है। पाकिस्‍तान को 7 अगस्त का इंतज़ार थे वो इसलिए क्योंकि उसे पदक जीतने की उम्मीद थी जो टूट गयी।

29 साल से ओलंपिक मेडल के लिए तरस रहा पाकिस्तान, मेडल की कीमत क्या होती है कोई इनसे ही पूछो

पाकिस्तान को उसकी औकात दिखाने के लिए हरियाणा के छोरे ही काफी हैं। पाकिस्तान ने एक भी पदक नहीं जीता है पिछले 29 सालों में लेकिन हरियाणा के छोरों ने ही पदक की लड़ी लगा दी है। पाकिस्‍तान की नजर उनके स्‍टार जेवलिन थ्रो खिलाड़ी अरशद नदीम पर थी। पाकिस्‍तान को उम्‍मीद थी कि अरशद मेडल लाकर उनके 29 साल के इंतजार को खत्‍म करने में सफल होंगे।

29 साल से ओलंपिक मेडल के लिए तरस रहा पाकिस्तान, मेडल की कीमत क्या होती है कोई इनसे ही पूछो

पूरे पाकिस्तान के सपने टूट चुके हैं। उनका दम निकल गया है। पाक 29 सालों से ओलंपिक में कोई मेडल नहीं जीत पाया है। यहां तक कि वो पिछले 29 साल से एक ब्रॉन्‍ज मेडल के लिए भी तरस रहा है। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले उम्मीद जताई जा रही थी कि भारत इस बार ओलंपिक इतिहास में सबसे बेहतर प्रदर्शन करेगा। काफी हद तक ऐसा हुआ भी।

29 साल से ओलंपिक मेडल के लिए तरस रहा पाकिस्तान, मेडल की कीमत क्या होती है कोई इनसे ही पूछो

पाकिस्तान का इंतज़ार कितना और लंबा खीचेगा किसी को नहीं पता लेकिन भारत को गोल्ड ज़रूर मिल गया है। अभी तक के इतिहास में पाकिस्‍तान के पास 3 गोल्‍ड, 3 सिल्‍वर और 4 ब्रॉन्‍ज सहित कुल 10 ओलंपिक मेडल है. इनमें से 3 गोल्‍ड, 3 सिल्‍वर और 2 ब्रॉन्‍ज सहित कुल 8 मेडल हॉकी में जीते, जबकि एक ब्रॉन्‍ज बॉक्सिंग में और एक ब्रॉन्‍ज रेसलिंग में जीते।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...