HomeGovernmentहरियाणा में किसानों ने लिया बैकों से कर्ज, साढ़े तीन लाख किसान...

हरियाणा में किसानों ने लिया बैकों से कर्ज, साढ़े तीन लाख किसान नहीं चुका पा रहे राशि

Published on

हरियाणा राज्य सहकारी एपेक्स बैंक लिमिटेड (हरको) एक ऐसी बैंक है जो किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराती है। हरको ने हरियाणा के 11 लाख किसानों को ऋण दिया हुआ है, लेकिन इनमें से साढ़े तीन लाख किसान ऐसे हैं जो ऋण नहीं चुका पा रहे हैं। ऐसे खाता धारकों के लिए जो ऋण चुकाने में सक्षम नहीं है, बैंक जल्द ही सेटलमेंट स्कीम लाने की तैयारी में है।

बता दें कि हरको बैंक की तरफ से किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर डेढ़ व्लाख रुपए तक का ऋण दिया जाता है।ब्याज की भरपाई बैंक को सरकार द्वारा की जाती है।

हरियाणा में किसानों ने लिया बैकों से कर्ज, साढ़े तीन लाख किसान नहीं चुका पा रहे राशि

बैंक सरकार से इसकी एवज में सात फीसद ब्याज लेता है। इसमें से तीन फीसद केंद्र सरकार व चार फीसद की भरपाई प्रदेश सरकार द्वारा की जाती है। इस प्रकार निर्धारित समय पर ऋण चुकाने वाले किसानों को बिना ब्याज ऋण की सुविधा मिली हुई है।

वर्तमान समय में बैंक की ओर से प्रदेश भर के 11 लाख किसानों को साढ़े 11 हजार करोड़ रुपयों का ऋण दिया हुआ है, जिनमें से साढ़े तीन लाख किसान ऐसे हैं जो ऋण की राशि को चुकता नही कर रहे हैं। किसानों द्वारा ऋण न चुका पाने के कारण भिन्न भिन्न हैं।

हरियाणा में किसानों ने लिया बैकों से कर्ज, साढ़े तीन लाख किसान नहीं चुका पा रहे राशि

उन साढ़े तीन लाख किसानों में से कुछ की आकस्मिक मृत्यु हो चुकी है तो किसी की मौत कोरोना व अन्य किसी बीमारी के कारण हो चुकी है। अन्य बड़ी संख्या में बचे किसान दूसरे कारणों से ऋण की राशि नहीं चुका पा रहे हैं। इस समस्या के कारण बैंक अधिकारियों को ऋण राशि रिकवरी में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

हरियाणा में किसानों ने लिया बैकों से कर्ज, साढ़े तीन लाख किसान नहीं चुका पा रहे राशि

हरको बैंक के चेयरमैन अरविंदर यादव का कहना है कि किसानों की आय बढ़ाई जाए, ताकि ऋण की राशि चुकाने में किसान सक्षम हो सकें। इसको लेकर प्रदेश सरकार द्वारा नई योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। इस कड़ी में बैंक की ओर से जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर दिए जाने वाली ऋण की राशि को दुगुना करने का प्रारूप तैयार किया जा रहा है।

हरियाणा में किसानों ने लिया बैकों से कर्ज, साढ़े तीन लाख किसान नहीं चुका पा रहे राशि

मुख्यमंत्री की ओर से इस बारे मे हरी झंडी मिलते ही किसानों को इसका लाभ प्राप्त होने लगेगा। इसके लिए वन टाइम सेटलमेंट स्कीम भी तैयार की जा रही है ताकि किसान एकमुश्त राशि में ऋण की राशि को चुका सकें। साथ ही अन्य जरूरत किसानों को भी ऋण संबंधी योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सके।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...