Homeखुदाई में मजदूरों को मिली ऐसी चीज जिसे बेचकर आधी दुनिया खरीदी...

खुदाई में मजदूरों को मिली ऐसी चीज जिसे बेचकर आधी दुनिया खरीदी जा सकती है, जानें इसकी खासियत

Array

Published on

खुदाई के दौरान हमने देखा है कि कई बार ऐसी चीज मिल जाती है जिसपर यकीन कर पाना बहुत कठिन हो जाता है। ऐसे ही जरा सोचिए, दुनिया का सबसे बड़ा नीलम आपको आंगन में यूं ही पड़ा मिल जाए तो। वो नीलम जिसकी बाजार में कीमत 700 करोड़ से भी ज्यादा हो। आपके होश पक्का उड़ जाएंगे। ऐसा ही कुछ श्रीलंका में एक परिवार के साथ हुआ।

पहले तो वहां मौजूद लोगों को वह आम सी चीज दिखाई दे रही थी लेकिन उसकी खासियत किसी को नहीं पता थी। दरअसल, उस घर के पीछे कुएं की खुदाई करते हुए श्रीलंकाई व्यक्ति के हाथ यह खजाना लगा।

खुदाई में मजदूरों को मिली ऐसी चीज जिसे बेचकर आधी दुनिया खरीदी जा सकती है, जानें इसकी खासियत

इसे लोग बेहद ही अनोखी घटना मान रहे हैं। लोगों का कहना है कि यह खबर हैरान कर देने वाली है। यह घटना श्रीलंका के रत्नपुरा की है। यहां हीरों के व्यापारी मिस्टर गोमेज घर के आंगन में कुएं की खुदाई करवा रहे थे। खुदाई के वक्त मजदूरों को यह नायाब चीज मिली। माना जाता है कि इस इलाके में रत्न काफी ज्यादा मात्रा में हैं। विशेषज्ञों की मानें तो अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस नीलम की कीमत 100 मिलियन डॉलर यानी करीब 700 करोड़ रुपये से ज्यादा है।

खुदाई में मजदूरों को मिली ऐसी चीज जिसे बेचकर आधी दुनिया खरीदी जा सकती है, जानें इसकी खासियत

काफी दूर – दूर से लोग इस नीलम को देखने आये हैं। श्रीलंका तेजी से विकास कर रहा है, लेकिन उसके कई इलाके ऐसे हैं, जहां अभी भी पानी के लिए कुएं का इस्तेमाल किया जाता है। मिस्टर गोमेज को जो नीलम मिला है, उसका वजन करीब 510 किलो बताया जा रहा है। इसे सेरेंडिपिटी सफायर नाम दिया गया है। इसका मतलब होता है किस्मत से मिला नीलम। यह नीलम 2.5 मिलियन कैरेट है। सुरक्षा कारणों से मिस्टर गोमेज ने अपना पूरा नाम नहीं बताया है।

खुदाई में मजदूरों को मिली ऐसी चीज जिसे बेचकर आधी दुनिया खरीदी जा सकती है, जानें इसकी खासियत

किस्मत किस समय खुल जाये पता नहीं चलता है। इन्होनें भी शायद कभी सोचा नहीं होगा कि ऐसा होगा। यह कई नीलम का एक गुच्छा है, जो मिट्टी या कीचड़ की वजह से एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...