HomeEducation19 साल बाद गणित शिक्षकों के दस्तावेजों पर उठें सवालों के बाद...

19 साल बाद गणित शिक्षकों के दस्तावेजों पर उठें सवालों के बाद मचा बवाल

Published on

19 साल बाद अचानक शिक्षकों की भर्ती के संबंध में जब मुख्य सचिव व सीएम के माध्यम से शिकायत पत्र प्राप्त होने के बाद स्कूल शिक्षा निदेशालय द्वारा संबंधित जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों से लेकर जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर गणित शिक्षकों की शैक्षणिक व अन्य सत्यापित दस्तावेज एक सप्ताह के भीतर भिजवाने के निर्देश दिए तो एकदम से हड़कंप मच गया।

दरअसल, इन सभी पर आगामी कार्यवाही की गाज गिर सकती हैं। दरअसल, यह शिक्षक पानीपत, अंबाला, हिसार, रोहतक, भिवानी, कैथल, झज्जर, सिरसा, जींद, करनाल, पलवल व कुरुक्षेत्र में कार्यरत हैं।

19 साल बाद गणित शिक्षकों के दस्तावेजों पर उठें सवालों के बाद मचा बवाल

वैसे तो जानकारी के मुताबिक, स्कूल शिक्षा निदेशालय के पत्र के मुताबिक हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा विज्ञापन क्रमांक 2-99 के तहत गणित अध्यापकों की चयन सूची निदेशालय में भेजी गई थी। पात्र पाए गए उम्मीदवारों को गणित अध्यापकों के पद पर निदेशालय के आदेशानुसार 6 फरवरी व 28 नवंबर 2002, 18 व 25 मार्च तथा 8 व 21 अप्रैल 2003 के अलावा 23 नवंबर 2004 अनुसार नियुक्ति पत्र जारी किए गए थे।

अब इस भर्ती के संबंध में मुख्य सचिव व सीएम हरियाणा सरकार के माध्यम से एक शिकायत निदेशालय को प्राप्त हुई है। इसकी जांच निदेशालय स्तर पर की जानी है। इनमें पानीपत, अंबाला, जींद, पलवल, कुरुक्षेत्र व रेवाड़ी से एक-एक, हिसार से छह, रोहतक से पांच, भिवानी से सात, कैथल, करनाल व झज्जर से दो-दो तथा सिरसा से दो शिक्षक शामिल हैं।

19 साल बाद गणित शिक्षकों के दस्तावेजों पर उठें सवालों के बाद मचा बवाल

निदेशालय ने रोहतक, हिसार, झज्जर, सिरसा, रेवाड़ी की डीईओ व पानीपत, अंबाला, हिसार, रोहतक, भिवानी, कैथल, झज्जर, सिरसा, जींद, करनाल, पलवल व कुरुक्षेत्र के डीईईओ को पत्र लिखकर अंकित किए गए 34 शिक्षकों के शैक्षणिक योग्यता से संबंधित दसवीं, बारहवीं, बीए, बीएससी, बीकाम, एमए, एमएससी, एमकाम, बीएड के अलावा एससी, बीसी व दिव्यांगता से संबंधित सर्टिफिकेट, ईएसएम व डीईएसएम सर्टिफिकेट व रिहायशी प्रमाण पत्र की सत्यापित प्रतियां निदेशालय में रजिस्ट्रड पोस्ट के माध्यम से एक सप्ताह में भिजवाने के निर्देश दिए हैं। ताकि आगामी कार्रवाई की जा सके।

19 साल बाद गणित शिक्षकों के दस्तावेजों पर उठें सवालों के बाद मचा बवाल

वहीं इस बाबत विस्तार से जानकारी देते हुए जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी बृजमोहन गोयल ने बताया कि निदेशालय की ओर से पत्र प्राप्त हुआ है, जिसमें पानीपत जिले में केवल एक शिक्षिका है। उसके सभी शैक्षणिक व अन्य दस्तावेज सत्यापित कर भिजवाए जाएंगे। इस बाद ही आगे की कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...