Homeजिस सांप ने डसा उसे ही कच्चा चबा गया बुजुर्ग, फिर हो...

जिस सांप ने डसा उसे ही कच्चा चबा गया बुजुर्ग, फिर हो गया ये बड़ा कांड

Array

Published on

कभी – कभी समाज में ऐसी बातें सुनने को मिलती हैं जिसपर भरोसा करना काफी कठिन हो जाता है। यकीन हो ही नहीं पाता। ऐसे ही कुछ दिनों पहले बिहार के नालंदा जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि जब एक बुजुर्ग को सांप ने डंस लिया तो शराब के नशे में उस बुजुर्ग ने उस सांप को भी चबा डाला। कुछ ही ढेर उस बुजुर्ग की भी मृत्यु हो गयी। उस बुजुर्ग की पहचान रामा महतो के रूप में हुई हैं। वहाँ की स्थानीय पुलिस ने सांप डंसने से मौत की एफआईआर दर्ज कर ली हैं।

इस मामले ने उस इलाके में चर्चा का बाजार गर्म कर दिया है। हर कोई इसकी निंदा कर रहा है। रामा महतो को सांप के बच्चे ने रात करीब 8 बजे के समय घर के दरवाजे पर डंस लिया था। उस वक्त महतो शराब के नशे में थे।

जिस सांप ने डसा उसे ही कच्चा चबा गया बुजुर्ग, फिर हो गया ये बड़ा कांड

शराब का नशा इंसान की मौत का कारण बनता है यह बात हम सभी जानते हैं और ऐसा ही हुआ। जब उन्हें सांप ने कटा तब उन्होंने भी ये कहकर सांप को चबाना शुरू कर दिया कि, “तुम्हारी हिम्मत कैसी हुई , तुम मुझे काटते हो , मैं तुम्हें काटूंगा। इसके बाद उस बुजुर्ग ने उस सांप को चबा चबाकर मार डाला। चबाने के दौरान सांप ने बुजुर्ग के मुँह में कई जगह कट दिया जिसके कारण बुजुर्ग का मुँह लहूलुहान हो गया।

जिस सांप ने डसा उसे ही कच्चा चबा गया बुजुर्ग, फिर हो गया ये बड़ा कांड

सांप का विष कितना जहरीला होता है यह बताने की कोई ज़रूरत नहीं है लेकिन सांप को चबाने के बाद भी बुजुर्ग नहीं माना। उन्होंने सांप को चबा चबाकर मार डालने के बाद उसे अपने घर के पास मौजूद पेड़ के टहनी पर टांग दिया और सोने चले गए। उनके गांव के लोगों ने उनसे इलाज कराने की बात कहीं मगर उन्होंने ये कहकर सभी के बातो को इनकार कर दिया कि सांप का बच्चा था, जहर नहीं चड़ेगा। इसके बाद गांव वालों ने भी जोर नहीं दिया।

जिस सांप ने डसा उसे ही कच्चा चबा गया बुजुर्ग, फिर हो गया ये बड़ा कांड

उनकी नासमझी ने उनकी जान लील ली। दूसरी सुबह जब परिवार के लोगों ने उन्हें अचेत देखा तो उन्हें अस्पताल ले गए मगर उस समय तक उनकी मौत हो चुकी थी।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...