Homeमालिक को बचाने के लिए जान पर खेल गए पालतू कुत्ते', विषैले...

मालिक को बचाने के लिए जान पर खेल गए पालतू कुत्ते’, विषैले सांप से ऐसे बचाई जिंदगी

Array

Published on

कुत्तों की वफादरी पर आपने भी कई कहानियां पड़ी होंगी। यह कहानियां अक्सर इंसान को दिखाती हैं कि वफ़ादारी कैसे निभाई जाये। यूपी के भदोही में पालतू कुत्तों ने एक बार फिर वफादारी की मिसाल पेश की है। औराई कोतवाली क्षेत्र के जयरामपुर में सांप से अपने मालिक को बचाने के लिए पालतू कुत्तों शेरू और कोको ने अपनी जान दे दी। लेकिन जान देने से पहले सांप को भी मार डाला।

यह मामला पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। जो भी इसे सुन रहा है यकीन नहीं कर पा रहा है। शेरू और कोको की वफादारी पर न सिर्फ मालिक का परिवार गमगीन और हैरान हैं बल्कि इलाके के लोग भी तारीफें कर रहे हैं।

मालिक को बचाने के लिए जान पर खेल गए पालतू कुत्ते', विषैले सांप से ऐसे बचाई जिंदगी

कई कहानियां उस इलाके में चल रही हैं कि इंसान से ज़्यादा वफादार तो जानवर ही होते हैं। क्षेत्र के मशहूर डाक्टर राजन का घोसिया के पास हाइवे के दक्षिण जयरामपुर में आवास है। देर रात करीब 12 बजे मुख्य गेट से जहरीला सांप घर में घुसने लगा तो दोनों ही कुत्‍ते अलर्ट हो गए। शेरू और कोको ने भौंकना शुरू कर दिया। कुत्तों की भौंक सुनकर चौकीदार ने गौर किया तो उसके होश उड़ गए।

मालिक को बचाने के लिए जान पर खेल गए पालतू कुत्ते', विषैले सांप से ऐसे बचाई जिंदगी

सांप के आगे अच्छे – अच्छों की पैंट गीली होने लगती है। कोई सांप के सामने जाने की हिम्मत नहीं रखता है। दोनों ही कुत्ते भौंकते हुए सांप को भगाना चाहते थे लेकिन सांप अंदर चला आ रहा था। सांप के नहीं मानने पर दोनों कुत्तों ने उस पर हमला कर दिया। करीब घंटे भर से अधिक समय तक चली लड़ाई के बाद सांप को दो हिस्सों में काटकर मार डाला।

मालिक को बचाने के लिए जान पर खेल गए पालतू कुत्ते', विषैले सांप से ऐसे बचाई जिंदगी

वहां मौजूद जितने भी लोगों ने यह नज़ारा देखा सभी भावुक हो उठे। इतना भावुक शायद ही कोई कभी पहले हुआ होगा। सांप ने भी कई बार कुत्तों को डंस लिया था। जहर के असर से कुछ देर बाद दोनों कुत्‍तों ने भी दम तोड़ दिया। वफादार कुत्तों की इस कुर्बानी पर परिवार के लोग भी खूब रोए। जिसको भी यह वफादारी की दास्‍तान पता चली सभी कभी काल बने टुकड़ों में बंटे नाग को देख रहे थे तो कभी बेजान पड़े दोनों कुत्‍तों को देखकर भावुक हो रहे थे।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...