Pehchan Faridabad
Know Your City

परिवार संग फरीदाबाद से मसूरी पहुंचे पर्यटकों को स्थानीय पुलिस ने लौटाया

मेडिकल सर्टिफिकेट साथ में होने के बावजूद लोगों को बेदखल किया जा रहा है। कुछ पर्यटक जो फरीदाबाद से मसूरी एक होटल में ठहरे थे,जब इस बात सूचना आस पास के कानों में पड़ी तो उन्होंने पर्यटकों के यहां रुकने पर विरोध किया। जिसपर पुलिस ने वहा पहुंच लोगों को समझाया और चारों पर्यटकों को लौट जाने को कहा। स्थानीय लोगों का कहना है कि पर्यटकों की आवाजाही से यहां कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है।

वहीं पर्यटक अमन ने उक्त पूरे मामले में अपनी जानकारी देते हुए बताया कि ऑनलाइन बुकिंग के तहत वह अपने परिवार को लेकर यहां आए थे। उनके पास मेडिकल सर्टिफिकेट भी है। वह और उनका परिवार पूरी तरह से स्वस्थ है। सरकार ने जो नियम बनाए हैं, वह उनका पालन कर रहे हैं। इसके बावजूद लोगों के विरोध पर वह निराश नजर आए।

मजदूर संघ के अध्यक्ष आरपी बडोनी ने कहा कि कुछ दिन पहले ही होटल एसोसिएशन ने स्पष्ट कर दिया था कि अगले 10 दिनों तक होटल नहीं खुल रहे हैं। ऐसे में कुछ होटल नियमों को दरकिनार कर रहे हैं।

होम क्वारंटीन युवक मार्केट में घूमता दिखा

स्वास्थ्य विभाग द्वारा संदिग्ध परिस्थितियों वाले मरीजों को होम कोरांटेन रहने की सलाह दी जा रहीं है। लेकिन डालनवाला पुलिस ने होम क्वारंटीन युवक को बाजार में खरीदारी पकड़ा। इस पर युवक के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार डालनवाला की चीता मोबाइल कैनाल रोड पर गश्त पर थी।


इसी बीच सूचना मिली कि वाजिद हुसैन निवासी एकता एवेन्यू कैनाल रोड चार जून से पटना से देहरादून आया था, जिसे 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन किया गया था। वह घर में रहने के बजाए बाहर निकल कर अनदेखी कर रहा है। वाजिद ने खुद पुलिस को 14 दिन तक होम क्वारंटीन रहने का बंधपत्र भी दिया गया था। बंधपत्र के उल्लंघन पर वाजिद के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया है।

निरंजनपुर मंडी 14 तक के लिए बंद

देहरादून में निरंजनपुर सब्जी मंडी को 14 जून तक के लिए बंद कर दिया गया है। मंडी अधिकारियों से चर्चा के बाद जिला प्रशासन ने इसके आदेश जारी किए हैं। 14 जून को दोबारा समीक्षा कर स्थिति का जायजा लिया जाएगा।


बता दें, पिछले हफ्ते बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद चार जून को जिला प्रशासन ने निरंजनपुर मंडी को कंटेनमेंट जोन घोषित कर 11 जून तक के लिए बंद कर दिया था।

साथ ही सभी आढ़तियों, उनके परिवारों व कर्मचारियों और मजदूरों को भी होम क्वारंटीन रहने के निर्देश दिए थे। बृहस्पतिवार को मंडी अध्यक्ष राजेश शर्मा और सचिव विजय थपलियाल ने आढ़ती संघ के अध्यक्ष जितेंद्र आनंद से मंडी खोलने को लेकर चर्चा की। इस दौरान मंडी खोलने को लेकर एक राय नहीं बन पाई।

शाम को जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने मंडी व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बातचीत के बाद मंडी को रविवार 14 जून तक बंद रखने के निर्देश दिए। मंडी अध्यक्ष राजेश शर्मा ने बताया कि फिलहाल ननूरखेड़ा उप मंडी से सब्जियों की सप्लाई हो रही है।

स्थानीय लोगों ने जताया विरोध

ट्रांसपोर्ट नगर से फल-सब्जी बेचे जाने पर स्थानीय लोगों ने विरोध जताया है। मंडी बंद होने के कारण इन दिनों कई आढ़ती शहर के अलग-अलग हिस्सों में वाहनों से सामान बेच रहे हैं। बृहस्पतिवार को भी कुछ आढ़ती वाहनों के साथ ट्रांसपोर्ट नगर पहुंचे और रिटेल कारोबारियों को सामान बेचने लगे। इस पर वहां कई स्थानीय लोग भी जुट गए और विरोध जताया।

स्थानीय लोगों का कहना था कि प्रशासन ने मंडी की वैकल्पिक व्यवस्था बनाई है तो सभी लोगों को वहीं सामान खरीदना बेचना चाहिए।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More