Homeपिता की मौत के बाद भी नहीं टूटा बेटी का हौसला, बसों...

पिता की मौत के बाद भी नहीं टूटा बेटी का हौसला, बसों की मरम्मत कर चलाती है घर

Published on

ईश्वर कभी – कभी बहुत कहर बरपा देता है। किसी को काफी सुख तो किसी को काफी दुःख दे देता है। इस मामले में नौकरी लगने से पांच दिन पहले पिता का साया बेटी के सिर से उठ गया था। परिवार में हर कोई पिता की मौत से सहमा था, लेकिन 22 साल की बेटी सोनी ने हिम्मत नहीं हारी। वह परिवार का सहारा बनकर खड़ी हो गई और हरियाणा रोडवेज के हिसार डिपो में अपनी नौकरी ज्वॉइन की।

पिता का साया उठने के बाद परिवार अक्सर बिखर जातें हैं, लेकिन इस बिटिया ने हिम्मत नहीं हारी। हिसार के गांव राजली की रहने वाली सोनी आज हिसार डिपो में मैकेनिकल हेल्पर के पद पर कार्यरत है। 

पिता की मौत के बाद भी नहीं टूटा बेटी का हौसला, बसों की मरम्मत कर चलाती है घर

बेटी का हौसला देखकर हर कोई गर्वित है। गांव वालों की आँखों में आंसू आ गए। सभी के लिए यह प्रेरणा थी। सोनी आठ बहन-भाइयों में तीसरे नंबर की है। सोनी की आय से ही घर का गुजारा हो रहा है। हिसार डिपो में सोनी रोजाना बसों की मरम्मत करती हैं। सोनी के काम को देखकर हर कोई हैरान रहा जाता है। इतना ही नहीं, सोनी मार्शल आर्ट के पेंचक सिलाट गेम की भी बेहतरीन खिलाड़ी रह चुकी हैं।

पिता की मौत के बाद भी नहीं टूटा बेटी का हौसला, बसों की मरम्मत कर चलाती है घर

परिवार में हर कोई पिता की मौत से सहमा था, लेकिन वह परिवार का सहारा बनकर खड़ी हो गई। सोनी के पिता नरसी का 27 जनवरी 2019 को बीमारी के चलते निधन हो गया था। माता मीना देवी गृहिणी हैं। गौरतलब है कि सोनी ने हिसार डिपो में मैकेनिकल हेल्पर के पद पर 31 जनवरी 2019 को ज्वाइन किया था। 

पिता की मौत के बाद भी नहीं टूटा बेटी का हौसला, बसों की मरम्मत कर चलाती है घर

ज़िंदगी बहुत दुःख लेकर आती है यह बात हम सभी जानते हैं। सोनी ने अपने हलातों से ज़िंदगी में हार नहीं मानी। अपने गांव में यह सभी के लिए प्रेरणा बन गयी हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...