HomeLife StyleHealthअक्टूबर में दिखेगा संक्रमण का तांडव, बच्चों और युवाओं पर मंडरेगा ज्यादा...

अक्टूबर में दिखेगा संक्रमण का तांडव, बच्चों और युवाओं पर मंडरेगा ज्यादा संक्रमित होने का खतरा

Published on

संक्रमण के दौरान हुई तबाही का मंजर भला किसने नहीं देखा। वही अभी भी यह संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। दरअसल, तीसरी वेब को लेकर जो आशंका जाहिर की जा रही है इस बार यह उससे भी ज्यादा खतरनाक साबित होने वाला है। जिसके बारे में स्वयं गृह मंत्रालय के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट कमेटी ने विस्तार से बखान करते हुए बताया है कि कमेटी द्वारा अपनी रिपोर्ट प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी गई है।

जानकारी के मुताबिक अक्तूबर माह में संक्रमण का लहर अपने पीक पर होगी। इसके अलावा बात की जाएं तो कमेटी द्वारा प्रधानमंत्री कार्यालय को बच्चों और युवाओं के लिए मेडिकल सुविधाओं का इंतजाम करने की सलाह भी दी है। विशेषज्ञों की कमेटी का मानना है कि तीसरी लहर बच्चों व युवाओं के लिए बड़ा खतरा बन सकती है।

अक्टूबर में दिखेगा संक्रमण का तांडव, बच्चों और युवाओं पर मंडरेगा ज्यादा संक्रमित होने का खतरा

रिपोर्ट के मुताबिक, देश में बच्चों के लिए मेडिकल सुविधाएं, वेंटीलेटर, डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस, ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था करनी होगी। क्योंकि, बड़ी संख्या में बच्चे व युवा संक्रमण से संक्रमित होंगे। इसलिए जरूरत है कि संक्रमण के आने से पहले पुख्ता इंतजाम किए जाए।

प्राथमिकता के आधार पर करना होगा टीकाकरण
गृह मंत्रालय ने यह रिपोर्ट उस समय जारी की है, जब बच्चों के लिए टीकाकरण भी शुरू होने वाला है। रिपेार्ट में कहा गया है कि बच्चों के बीच प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण करना होगा। इसके साथ ही कमेटी ने कोविड वार्ड को फिर से इस आधार पर तैयार करने की सलाह दी है, जिससे बच्चों के तीमारदारों को भी साथ रहने की अनुमति मिल सके।

आईआईटी कानपुर ने किया था तीसरी लहर से इंकार
वहीं दूसरी तरफ आईआईटी कानपुर ने संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका को न के बराबर बताया है। वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने अपने गणितीय ‘मॉडल सूत्र’ के आधार पर नई स्टडी जारी की है। उनका दावा है कि अक्तूबर तक उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में केसों की संख्या इकाई अंक तक पहुंच जाएगी।

अक्टूबर में दिखेगा संक्रमण का तांडव, बच्चों और युवाओं पर मंडरेगा ज्यादा संक्रमित होने का खतरा

उनका कहना है कि वैक्सीनेशन ने इसका खतरा और कम कर दिया है। इससे संक्रमण लगातार कम होगा। उन्होंने बताया कि यूपी, बिहार, दिल्ली जैसे राज्य लगभग संक्रमण मुक्त होने की ओर हैं। हालांकि, देश में एक्टिव केस अक्तूबर माह तक भी 15 हजार के करीब रहेंगे क्योंकि तमिलनाडु, तेलंगाना, केरल समेत पूर्वोत्तर राज्यों में संक्रमण रहेगा।

अक्टूबर में दिखेगा संक्रमण का तांडव, बच्चों और युवाओं पर मंडरेगा ज्यादा संक्रमित होने का खतरा

इसलिए जरूरी है कि संक्रमण को खुद से दूर रखने के लिए सरकार द्वारा जो भी गाइडलाइंस जारी की गई थी, अभी भी आमजन उस पर कायम रहे और फेस मास्क, हैंड सैनिटाइजर जैसी चीजों का इस्तेमाल करना बंद ना करें। क्योंकि संक्रमण भले ही कम हुआ है लेकिन यह खत्म नहीं हुआ। अभी भी आप इसकी चपेट में आ सकते हैं, तो इससे बचे रहने के लिए जरूरी है कि इसको अपने आप से दूर रखने के लिए फेस मास्क और हैंड सेनीटाइजर को अपने हथियार बनाए ताकि यह आप पर वार ना कर सके।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...