HomeGovernmentघरों तक पानी पहुंचाने में छठवा तो स्कूलों में पानी कनेक्शन पहुंचाने...

घरों तक पानी पहुंचाने में छठवा तो स्कूलों में पानी कनेक्शन पहुंचाने में हरियाणा ने पाया पांचवा स्थान

Published on

केंद्र सरकार के महत्वाकांक्षी जल जीवन मिशन के तहत हर घर जल पहुंचाने की योजना को बड़े पैमाने पर चलाया गया। जिसके बाद कुछ ही समय में इस योजना ने तुल पकड़ा और घरों तक जल पहुंचाने के मामले में देश में पहले स्थान पर गोवा, दूसरे पर तेलंगाना, तीसरे स्थान पर अंडमान निकोबार द्वीप समूह, चौथे स्थान पर पांडिचेरी और पांचवें स्थान पर दमन एवं दीव बने गए।

वहीं इस योजना के तहत हरियाणा की बात करें तो अभी तक 30 लाख 77 हजार 258 घरों तक पानी के कनेक्शन पहुंचाए जा चुके हैं। इस आंकड़े को देखें तो हरियाणा ने 99.37 फीसद लक्ष्य कवर लिया है। जबकि 19 हजार से अधिक लोगों के यहां ही पानी के कनेक्शन पहुंचाना शेष रह गया है।

घरों तक पानी पहुंचाने में छठवा तो स्कूलों में पानी कनेक्शन पहुंचाने में हरियाणा ने पाया पांचवा स्थान

गौरतलब, केंद्र के जल जीवन मिशन के तहत जहां हरियाणा छठवें स्थान पर बना हुआ है तो कई राज्य ऐसे हैं जिन्हें हरियाणा ने पीछे छोड़ दिया है। इसमें बिहार, गुजरात, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम, महाराष्ट्र, जम्मू कश्मीर, मनीपुर आदि राज्य शामिल हैं। टाप दो में बने तेलंगाना राज्य को छोड़ दिया जाए तो अन्य राज्य हरियाणा से छोटे हैं और सीमित आबादी वाले हैं। ऐसे में कहा जा सकता है कि हरियाणा की स्थिति काफी अच्छी चल रही है।

घरों तक पानी पहुंचाने में छठवा तो स्कूलों में पानी कनेक्शन पहुंचाने में हरियाणा ने पाया पांचवा स्थान

स्कूलों तक पानी का कनेक्शन पहुंचाने के मामले में हरियाणा पांचवें स्थान पर है। यहां 12988 स्कूलों में पानी पहुंचाया जाना था जो पूरी तरह से पहुंचाया जा चुका है। इसके साथ ही आंगनवाड़ी केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और ग्राम पंचायतों में कुल 21789 स्थानों पर पानी के कनेक्शन मुहैया कराए गए हैं। इस में शत फीसद लक्ष्य को प्राप्त कर लिया गया है। हरियाणा के साथ आंध्र प्रदेश, गुजरात और गोवा ने भी अपने स्कूलों में शत फीसद पेयजल की कनेक्शन मुहैया कराया है।

घरों तक पानी पहुंचाने में छठवा तो स्कूलों में पानी कनेक्शन पहुंचाने में हरियाणा ने पाया पांचवा स्थान

वहीं अब तक दमन दीव में 100 फीसद, तेलंगाना में 70 फीसद, हरियाणा 42.23 फीसद, पंजाब में 36 फीसद, महाराष्ट्र में 31 फीसदतो वहीं राजस्थान में 8.96 फीसद तक आपूर्ति की जा चुकी हैं।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...