Homeएक भी टहनी काटे बिना आम के पेड़ पर ऐसे बनाया बेहतरीन...

एक भी टहनी काटे बिना आम के पेड़ पर ऐसे बनाया बेहतरीन और स्मार्ट ट्री-हाउस

Array

Published on

मकान बनाने के लिए लोग बहुत से पेड़ों का कत्ल कर देते हैं। हर इंसान का सपना होता है कि उसका एक प्यारा सा आशियाना हो। राजस्थान में झीलों के शहर उदयपुर का एक अनोखा घर पर्यावरण संरक्षण के लिए देश-दुनिया में एक नजीर बन चुका है। हम बात कर रहे हैं पर्यावरण प्रेमी इंजीनियर केपी सिंह के अनोखे ट्री-हाउस की, जो पिछले 20 साल से एक आम के पेड़ पर टिका हुआ है। सिंह का मकान चार मंजिला हैं। जिसे बनाने के बाद से केपी सिंह ने अब तक इसकी एक टहनी भी नहीं काटी।

कुछ लोग मकान नहीं घर बनाते हैं। अगर वो सबसे हटकर यूनिक हो तो कहना ही क्या। इंजीनियर केपी सिंह ने अपना यह ट्री हाउस 2000 में बनाया गया था। तब से आज तक यह पेड़ और घर दोनों सही सलामत हैं। उदयपुर की खूबसूरती को निहारने आने वाले पर्यटक इस अनूठे घर की ओर भी आकर्षित होते हैं।

Tree House in Udaipur

साल 2000 में एक घर बनाया था जिसकी चर्चा 2021 में भी हो रही है। सिंह ने अपने सपनों के इस घर में पेड़ की टहनियों को काटने की बजाय उनका उसी रूप में इस्तेमाल किया है। जैसे किसी टहनी को सोफा का रूप दिया गया है, तो किसी को टीवी स्टैंड का। इंजीनियर केपी सिंह का यह प्यारा सा आशियाना लेकसिटी उदयपुर के चित्रकूट में स्थित है. सिंह ने अपने ‘ड्रीम हाउस’ का सपना संजोया था। आज से करीब 20 साल पहले उन्होंने उसे आम के पेड़ पर मूर्त रूप में उतारा।

एक भी टहनी काटे बिना आम के पेड़ पर ऐसे बनाया बेहतरीन और स्मार्ट ट्री-हाउस

कुदरत से प्यार करने वाले सिंह, झीलों के शहर उदयपुर में रहते हैं। इस घर को पेड़ की टहनियों के हिसाब से डिजाइन किया गया है। इसमें किचन, बाथरूम, बेडरूम, डाइनिंग हॉल समेत जमीन पर बने घर की तरह तमाम सुख सुविधाएं हैं। किचन बेडरूम आदि से पेड़ की टहनियां निकलती हैं। इसकी वजह से फल भी घर में ही उगते हैं।

एक भी टहनी काटे बिना आम के पेड़ पर ऐसे बनाया बेहतरीन और स्मार्ट ट्री-हाउस

आप इसे ट्री हाउस कह सकते हैं। लेकिन ये दिल बहलाने वाला ‘ट्री हाउस’ नहीं बल्कि एक फुल फर्निश्ड घरौंदा है। 1999 में उन्होंने उदयपुर में घर बनाने के लिए जमीन ढूंढना शुरू की थी। इस दौरान सुखेर इलाके में कॉलोनाइजर ने उन्हें हरे भरे पेड़ों के बीच एक जमीन दिखाई।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...