HomeFaridabadफरीदाबाद के खोरी गांव के बाद अब जम्हाई कॉलोनी में तोड़फोड़ नोटिस...

फरीदाबाद के खोरी गांव के बाद अब जम्हाई कॉलोनी में तोड़फोड़ नोटिस के बाद लोगों ने खुद ही खाली किए मकान

Published on

फरीदाबाद के खोरी गांव में अवैध रूप से बसे मकानों के तोड़फोड़ के बाद अब सैनिक कॉलोनी के सैक्टर 49 के टी प्वाइंट पर स्थित जम्हाई कालोनी में अवैध रूप से बसे लोगों को उजाडऩे के लिए भी सरकार द्वारा पूरी तैयारी कर ली गई है। नगर निगम द्वारा खोरी गांव में करीब दस हजार मकानों के तोड़ा गया था। इसके बाद अब जम्हाई कॉलोनी को हटाए जाने के लिए पूरी कार्रवाई की जा रही है।

इसके लिए बकायदा लोगों को बकायदा नोटिस जारी किए गए हैं। नोटिस पाने के बाद घबराए लोगों ने खुद ही अपने मकान खाली करने शुरू कर दिए हैं, खुद ही लोग अपने घरों को छोड़कर जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर शनिवार को जम्हाई कॉलोनी में ही प्रशासन के निर्देशानुसार फ्लैग मार्च निकाला गया। इसके माध्यम से कॉलोनीवासियों को सीधे तौर पर चेतनावानी दी गई कि कानून व्यवस्था को भंग न किया जाए व शांति बनी रहे।

फरीदाबाद के खोरी गांव के बाद अब जम्हाई कॉलोनी में तोड़फोड़ नोटिस के बाद लोगों ने खुद ही खाली किए मकान

जिला उपायुक्त जितेंद्र यादव द्वारा नगर निगम को जम्हाई कालोनी में अवैध कब्जे हटाने के निर्देश जारी कर दिए हैं। 1 से 10 सितंबर तक सरकारी जमीन को खाली करने के आदेश उपायुक्त द्वारा दिए गए हैं। इसके लिए ड्यूटी मजिस्ट्रेट को भी नियुक्त कर दिया गया है। उपायुक्त जितेंद्र यादव के आदेशानुसार नगर निगम के एक्सईएन जीपी वधवा, श्याम सिंह, मनोज कुमार, नितिन कादियान, एसडीओ विनोद मित्तल, अमित चौधरी, सुरेंद्र हुडडा, जगदीश अरोड़ा, खेमचंद, वीरेंद्र पाहिल, नरेंद्र कुमार तथा विनोद सिंह को जम्हाई कॉलोनी में तोडफ़ोड़ के दौरान ड्यूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर नियुक्त कर जिम्मेदारी सौंपी गई है।

फरीदाबाद के खोरी गांव के बाद अब जम्हाई कॉलोनी में तोड़फोड़ नोटिस के बाद लोगों ने खुद ही खाली किए मकान

संबंधित डीसीपी तथा इंफोर्समेंट को भी उपायुक्त जितेंद्र यादव द्वारा इस कार्य के लिए जिम्मेदारी सौंपी है। ज्ञात है कि नगर – निगम ने ही सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इससे पहले खोरी गांव में एक बड़े पैमाने पर तोड़फोड़ कर सरकारी जमीन को खाली करवाया था।

लोग कई सालों से इस जमीन पर अपने पक्के मकान व दुकान बनाकर रहे रहे थे, धार्मिक स्थल भी इस जगह पर बने हुए थे। 19 फरवरी 2020 को सुप्रीम कोर्ट को सुप्रीम कोर्ट द्वारा को दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान वन क्षेत्र पर बनी हुई अवैध कालोनियों को हटाने के निर्देश दिए थे।

फरीदाबाद के खोरी गांव के बाद अब जम्हाई कॉलोनी में तोड़फोड़ नोटिस के बाद लोगों ने खुद ही खाली किए मकान

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार कार्रवाई करते हुए नगर निगम, पुलिस विभाग एवं जिला प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई में खोरी गांव को पूरी तरह से खाली करवा दिया गया है तथा अरावली क्षेत्र के सूरजकुंड रोड पर बनें करीब 10 अवैध मैरिज गार्डन व फार्म हाऊस को भी नगर – निगम द्वारा तोड़ा गया। इसके बाद अब निगम प्रशासन ने जम्हाई कॉलोनी को अपने निशाने पर ले लिया है। गौरतलब है कि जम्हाई कालोनी अवैध रूप से में भी हजारों मकान, दुकान व धार्मिक स्थल बने हुए हैं तथा 1 सितंबर से बड़े स्तर पर इन पर भी तोडफ़ोड़ की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...