Homeआम महिला ने बनाया सांस देने का तरीका, वजह जानकर आंखे हो...

आम महिला ने बनाया सांस देने का तरीका, वजह जानकर आंखे हो जांएगाी नम

Published on

भारत में महामारी की दूसरी लहर के दौरान लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। पिछले दो सालों से लोग निरंतर जंग लड़ रहे हैं। लाखों परिवारों के जहन में अपनों से बिछड़ने डर बैठ गया है। जारों लोग घर से बेघर हो गए हैं। हजारों लोगों ने संसाधनों के अभाव में दम तोड़ा है। जिसे लोग भूला नहीं पाए हैं। आज जिस महिला की हम बात कर रहे हैं उनकी मां ने भी महामारी की सैकेंड लहर में ऑक्सीजन की कमी से दम तोड़ दिया है।

महामारी की दूसरी लहर के सामने लोगों की हिम्मत जवाब देने लगी। उसी समय महिला ने संकल्प लिया था कि वह कुछ ऐसा करेगी जिससे वह दूसरे मरीजों की मदद कर सके। उसी संकल्प को पूरा करते हुए महिला ने ऑक्सीजन ऑटो का निर्माण कराया। साथ ही ऑक्सीजन ऑटो की वजह से लगभग 800 लोगों की जान बचाई जा सकी।

आम महिला ने बनाया सांस देने का तरीका, वजह जानकर आंखे हो जांएगाी नम

महिला की दरियादिली सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। साथ ही यूजर्स की प्रतिक्रियाएं भी शानदार आ रही हैं। कई लोगों को ऑक्सीजन की आवश्यकता हुई थी और कई लोगों की ऑक्सीजन की कमी से जान भी चली गई थी। चेन्नई की रहने वाली 37 वर्षीय सीता की 65 वर्षीय मां विजया किडनी की बीमारी से जूझ रही थी। सैकेंड लहर के दौरान सीता की मां भी संक्रमित हो गई।

आम महिला ने बनाया सांस देने का तरीका, वजह जानकर आंखे हो जांएगाी नम

ऑक्सीजन की कमी से अस्पताल, सड़कों और फुटपाथों पर मरते लोगों की तस्वीरें डरा रही थीं। सीता मां को लेकर राजीव गांधी जिला अस्पताल पहुंची। लेकिन वहां ऑक्सीजन बैड़ खाली नहीं था। जिसके चलते अस्पताल स्टाफ उन्हे बाहर वेट करने को कहा। सीता ने बताया कि ऑक्सीजन के लिए उन्हे 12 घंटे तक इंतजार करना पड़ा था। उधर मां की तबियत लगातार बिगड़ती जा रही थी। अचानक मेरी मां ने हॅास्पिटल के बाहर ही दम तोड़ दिया।

आम महिला ने बनाया सांस देने का तरीका, वजह जानकर आंखे हो जांएगाी नम

लोग ऑक्सीजन सिलेंडर के इंतजाम में दर-दर भटकते नजर आए। यदि उन्हे यदि ऑक्सीजन मिल गई होती तो उनकी जान बच जाती।

Latest articles

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...

फरीदाबाद की बेटी ने रचा इतिहास, बोलने और सुनने में नहीं हैं सक्षम, लोगों को चौकाया वकील बनकर

भारत में जहाँ लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात एक...

More like this

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...