Online se Dil tak

कोरोना योद्धाओं संग डीसी यशपाल यादव मीटिंग कर अस्पताल इलाज का लिए ब्यौरा

फरीदाबाद में कोरोनावायरस का संक्रमण अपने बढ़ते कदम को रोकने का नाम नहीं ले रहा है यही कारण है कि आए दिन कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिलता है। इतना ही नहीं हर दिन बढ़ता नया आंकड़ा फरीदाबाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता का कारण बना हुआ है।

वही कहीं ना कहीं यह आंकड़े फरीदाबाद वासियों के लिए खतरे की घंटी बजा रही है।लेकिन स्वास्थ्य विभाग की माने तो फरीदाबाद वासियों को घबराने की जगह को रोना वायरस को गंभीर से समझने की जरुरत है।

कोरोना योद्धाओं संग डीसी यशपाल यादव मीटिंग कर अस्पताल इलाज का लिए ब्यौरा
कोरोना योद्धाओं संग डीसी यशपाल यादव मीटिंग कर अस्पताल इलाज का लिए ब्यौरा

इसी विषय पर विस्तार से चर्चा करते हुए ईएसआई मेडिकल कॉलेज के सभी वीर योद्धा संग फरीदाबाद के जिला उपायुक्त डीसी यशपाल यादव ने अपने कार्यालय में एक मीटिंग आयोजित की।

इस मीटिंग में कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे समस्त डॉक्टर्स ने विस्तार से ईएसआई अस्पताल में भर्ती मरीजों के इलाज के बारे मे पूर्णत जानकारी दी। डॉक्टर ने बताया कि किस तरह अस्पताल में मरीजों का बखूबी ध्यान रखा जा रहा है और चिंता की कोई बात नहीं है मरीजों में इजाफा होने के साथ साथ उनके स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए पूरा विभाग एकजुट होकर उन्हें ठीक करने की मस्सकत कर रहा है।

कोरोना योद्धाओं संग डीसी यशपाल यादव मीटिंग कर अस्पताल इलाज का लिए ब्यौरा
कोरोना योद्धाओं संग डीसी यशपाल यादव मीटिंग कर अस्पताल इलाज का लिए ब्यौरा

डीसी यशपाल ने कोरोनावयरस के संक्रमण से लड़ रहे डॉक्टर्स का आभार व्यक्त किया और उनकी इस लड़ाई में फरीदाबाद प्रशासन उनका पूर्ण सहयोग करेगा इस बात का भरोसा दिया। इसके अलावा डीसी यशपाल यादव ने फरीदाबाद वासियों को सतर्कता बरतने के लिए कहते हुए चिंता मुक्त रहने को कहा।

कोरोना योद्धाओं संग डीसी यशपाल यादव मीटिंग कर अस्पताल इलाज का लिए ब्यौरा
कोरोना योद्धाओं संग डीसी यशपाल यादव मीटिंग कर अस्पताल इलाज का लिए ब्यौरा

उन्होंने बताया कि फरीदाबाद में कोरोनावायरस के इलाज में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रखी जा रही है। लेकिन लोगों को जरूरत है कि वह जरूरत से ज्यादा अपना और अपने परिवार का ख्याल रखें ताकि हर दिन बढ़ते कोरोना मरीजों के मामलों को रोका जा सके।

Read More

Recent