Homeइंसान ही नहीं जानवरों के साथ भी बदसलूकी की हदें पार करते...

इंसान ही नहीं जानवरों के साथ भी बदसलूकी की हदें पार करते हैं तालिबानी, चिड़ियाघर में..

Published on

अफगानिस्तान काफी सुर्खियों में बना हुआ है। 15 अगस्त को अफगानिस्तान पर तालिबान ने कब्जा कर लेने के बाद अफगान के बाशिंदों पर जुल्म करने के बाद अब तालिबानी लड़ाके बेज़ुबान जानवरों को अपने कहर का निशाना बना रहे हैं। तालिबान के डर से इंसान तो भागने लगे हैं, लेकिन चिड़ियाघर के बेज़ुबान जानवर भला कहां भाग जाएं? वे तो वहीं फंसे हुए हैं, उस पर भी खतरनाक लड़ाकों की खूंखार आंखें और हथियार उनमें खौफ पैदा करने के लिए काफी हैं।

अपनी नई छवि दिखाने की कवायद कर रहा तालिबान असल में पुरानी बर्बरता पर उतर आया है। एक तस्वीर में जिस तरह तालिबानी लड़ाके ने एक भालू की ओर अपनी बंदूक तान रखी है, उसे देखकर इन जानवरों की हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है। हालांकि जानकारी के मुताबिक चिड़ियाघर में अब भी जानवरों की सेवा की जा रही है, लेकिन तालिबानियों का क्या? उनके लिए इंसान की जान लेना जब इतना आसान है, फिर ये तो बेज़ुबान जानवर ठहरे।

इंसान ही नहीं जानवरों के साथ भी बदसलूकी की हदें पार करते हैं तालिबानी, चिड़ियाघर में..

अफगानिस्‍तान से अब तक सैंकड़ों लोगों को भारत सरकार निकालकर स्‍वदेश वापस ला चुकी है। अफगानिस्तान में तालिबानियों का राज कायम होने के बाद इंसान तो डर के मारे वहां से भागने लगे हैं, लेकिन चिड़ियाघर के बेज़ुबान जानवर भला कहां भाग जाएं? वे तो वहीं फंसे हुए हैं, उस पर भी खतरनाक लड़ाकों की खूंखार आंखें और हथियार उनमें खौफ पैदा करने के लिए काफी हैं।

इंसान ही नहीं जानवरों के साथ भी बदसलूकी की हदें पार करते हैं तालिबानी, चिड़ियाघर में..

आतंकी संगठन के काबुल पर कब्जे के बाद से अफगानिस्तान में मानवाधिकार हनन की घटनाएं बढ़ गई हैं। तालिबानी लड़ाका मांद में खड़े भालू की ओर अपनी बंदूक ताने हुए है, जबकि बाकी लड़ाके ये नजारा खड़े होकर बड़े आराम से देख रहे हैं। नीचे खड़ा भालू बंदूक को देखकर सहमा नजर आ रहा है। चिड़ियाघर के इन जानवरों का गेम अब ओवर हो चुका है, क्योंकि कुछ इसी तरह तालिबानी इन जानवरों को ट्रीट करने वाले हैं और ये तो भाग भी नहीं सकते।

इंसान ही नहीं जानवरों के साथ भी बदसलूकी की हदें पार करते हैं तालिबानी, चिड़ियाघर में..

इस बात की पुष्टि की गई है कि इस भालू को मारा नहीं गया है और चिड़ियाघर के अंदर बाकी जानवरों का खाना-पानी चल रहा है। आतंकी समूह द्वारा किए जा रहे अत्याचारों का खुलासा किया गया है।

Latest articles

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...

फरीदाबाद की बेटी ने रचा इतिहास, बोलने और सुनने में नहीं हैं सक्षम, लोगों को चौकाया वकील बनकर

भारत में जहाँ लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात एक...

More like this

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...