HomeFaridabadफरीदाबाद की नई पहचान की वजह बना रहे पैरालंपिक खिलाड़ी, गर्व से...

फरीदाबाद की नई पहचान की वजह बना रहे पैरालंपिक खिलाड़ी, गर्व से फूले नही समा रहे शहरवासी

Published on

फरीदाबाद जिले ने वैसे तो अनेकों क्षेत्रों में नाम कमाकर पहचान बनाई हुई है। लेकिन अब फिलहाल चल रहे पैरालंपिक खेलों विजेता के रूप में उभर रहे शहर के खिलाड़ियों के कारण और एक अलग क्षेत्र “खेलों के क्षेत्र” में भी फरीदाबाद की पहचान बन रही है।

जहां अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम की वजह से फरीदाबाद की पहचान होती थी, वहीं अब जिले की पहचान खिलाड़ियों की वजह से होगी। हाल ही में चल रहे पैरालंपिक खेल फरीदाबाद के लिए ऐतिहासिक रहा है। जिले के खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने के साथ – साथ ओलंपिक में नाम कमाया है।

फरीदाबाद की नई पहचान की वजह बना रहे पैरालंपिक खिलाड़ी, गर्व से फूले नही समा रहे शहरवासी

बता दें कि वेटलिफ्टिंग में पहला गोल्ड लेने वाली साउथ की कर्णम मल्लेश्वरी ने भी फरीदाबाद में रहते हुए ही ओलंपिक गोल्ड अपने नाम किया था। उन्होंने अपने संघर्ष के दिनों को भी जिले का नाम लेते हुए याद किया था। इस बार संघर्ष व खुशी के साथ जिला का नाम पैरालंपिक में सिंहराज और मनीष के साथ लिया जाएगा।खिलाड़ियों को उम्मीद है कि ओलंपिक में नाम दर्ज कराने के बाद जिले में खिलाड़ियों की पौध की झड़ी लगेगी।

हरियाणा मानव अधिकार आयोग के वर्तमान सदस्य व स्पोर्ट्स काउंसिल के पूर्व सचिव दीप भाटिया का कहना है कि जिले में खिलाड़ियों और खिलाड़ियों की प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। ओलंपिक में मेडल जीतने की दावेदारी फीकी रही, जिसकी क्षतिपूर्ति पैरालंपिक में इस बार मनीष और सिंहराज अधाना ने की।

फरीदाबाद की नई पहचान की वजह बना रहे पैरालंपिक खिलाड़ी, गर्व से फूले नही समा रहे शहरवासी

हरियाणा का एकमात्र स्तर का क्रिकेट स्टेडियम पहले जिले में था। केवल इस सुविधा के बूते ही इसे क्रिकेट से जोड़ कर देखा जाता रहा, जबकि यहां खिलाड़ी अन्य विधाओं से भी उभरे।

दीप भाटिया ने बताया कि दिल्ली के समीप होने एवं स्टेडियम सुविधाएं होने के कारण जिले में अब स्कोप बढ़ा है। अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी नए स्टेडियमों में पनपेंगे। शूटिंग खिलाड़ी भी अधिकतर जिले से ही निकले हैं।

फरीदाबाद की नई पहचान की वजह बना रहे पैरालंपिक खिलाड़ी, गर्व से फूले नही समा रहे शहरवासी

एस्ट्रोटर्फ (हॉकी के लिए) का मैदान सेक्टर-12 में बनाया गया है तथा बैडमिंटन और फुटबॉल का भी स्कोप है। इसके अलावा तैराकी की संभावनाएं भी युवाओं के साथ बढ़ रही हैं। यही प्रतिभाएं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जिले की छवि को उभारेंगी।

फरीदाबाद की नई पहचान की वजह बना रहे पैरालंपिक खिलाड़ी, गर्व से फूले नही समा रहे शहरवासी

दो बार एशियन गेम्स विजेता बन कर उभरे भूपेंद्र सिंह बताते हैं कि पहली बार जिले में किन्हीं दो खिलाड़ियों ने ओलंपिक स्तर पर पदक जीता है। यही संभावनाओं का भी विस्तार है। सिंहराज अधाना के गांव में भी शूटिंग रेंज बनवाकर भावी खिलाड़ियों को योगदान दिया जा सकता है।

Latest articles

फरीदाबाद में कई जगह चल रहे हैं अवैध आरओ प्लांट, निगम की कार्यवाही का है इंतजार

फरीदाबाद में अवैध रूप से चल रहे आरो प्लांट तेजी से बढ़ रहे हैं।...

फरीदाबाद के एक बहुमंजिला मकान में आई दरार, खतरे में आस-पास के सभी घर, लोगों ने बचाव की लगाई गुहार

फरीदाबाद में कई जगहों पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया जा रहा है...

सप्लाई का पानी पी रहे लोग हो जाये सावधान! फरीदाबाद प्रशासन कर रही है लोगों के जान से खिलवाड

फरीदाबाद में पानी का जो सप्लाई किया जा रहा है उसके लिए स्वास्थ्य विभाग...

फरीदाबाद में लाखों की लागत से बन रहा है माता दुर्गा का पंडाल, इंडिया गेट की रहेगी थीम

फरीदाबाद में दुर्गा पूजा रामलीला को लेकर जोरदार तैयारियां चल रही हैं। लोग रामलीला...

More like this

फरीदाबाद में कई जगह चल रहे हैं अवैध आरओ प्लांट, निगम की कार्यवाही का है इंतजार

फरीदाबाद में अवैध रूप से चल रहे आरो प्लांट तेजी से बढ़ रहे हैं।...

फरीदाबाद के एक बहुमंजिला मकान में आई दरार, खतरे में आस-पास के सभी घर, लोगों ने बचाव की लगाई गुहार

फरीदाबाद में कई जगहों पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया जा रहा है...

सप्लाई का पानी पी रहे लोग हो जाये सावधान! फरीदाबाद प्रशासन कर रही है लोगों के जान से खिलवाड

फरीदाबाद में पानी का जो सप्लाई किया जा रहा है उसके लिए स्वास्थ्य विभाग...